Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

निर्भया के दोषियों का डेथ वारंट जारी, 22 जनवरी को होगी फांसी

देश को हिला कर रख देने वाले निर्भया मामले के दोषियों की फांसी की तारीख तय हो गई है. चारों दोषियों को 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी दी जाएगी.

दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत ने आज चारों दोषियों मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय सिंह और पवन गुप्ता के डेथ वारंट जारी कर दिए.।अदालत द्वारा डेथ वारंट जारी किए जाने के बाद निर्भया के माता-पिता ने खुशी जताई। निर्भया की मां ने कहा कि अदालत का यह निर्णय कानून के प्रति महिलाओं के विश्वास को मजबूत करेगा। निर्भया के साथ 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में छह लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इनमें एक नाबालिक था जिसे बाल सुधार ग्रह भेजा गया था, एक आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी।

निर्भया केस कब क्या हुआ :

16 दिसंबर 2012 – दिल्ली के मुनीरका इलाके में छह लोगों ने पैरामेडिकल की छात्रा निर्भया के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

18 दिसंबर 2012 –  दिल्ली पुलिस ने चार आरोपियों राम सिंह, मुकेश, विनय शर्मा और पवन गुप्ता को गिरफ्तार किया।

21 दिसंबर 2102 –  पांचवें आरोपी (नाबालिग) को दिल्ली और छठे आरोपी अक्षय ठाकुर को बिहार से गिरफ्तार किया गया।

29 दिसंबर 2012 -निर्भया ने सिंगापुर के अस्पताल में दम तोड़ा।

30 दिसंबर 2012- दिल्ली में निर्भया का अंतिम संस्कार किया गया।

3 जनवरी 2013 – पुलिस ने पांच आरोपियों राम सिंह, मुकेश, विनय, पवन और अक्षय के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद चार्जशीट दाखिल की. मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट को सौंपा गया. छठे नाबालिग आरोपी पर जुवेनाइल कोर्ट में केस चलाने का फैसला।

7 जनवरी 2013- फास्ट ट्रैक कोर्ट ने पांचों दोषियों पर आरोप तय किए।

11 मार्च 2013-  तिहाड़ जेल में राम सिंह की मौत।

31 अक्टूबर 2013- जुवेनाइल बोर्ड ने नाबालिग आरोपी को दुष्कर्म और हत्या का दोषी करार देते हुए तीन साल के लिए सुधार गृह में भेजा।

 13 सितंबर 2013- फास्ट ट्रैक कोर्ट ने चार आरोपियों मुकेश, विनय, पवन और अक्षय को दोषी करारते हुएम मौत की सजा सुनाई।

13 मार्च 2014- दिल्ली हाई कोर्ट ने चारों दोषियों की सजा बरकरार रखी।

5 मई 2017- सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों यानी मुकेश, विनय, पवन और अक्षय की मौत की सजा बरकरार रखी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.