Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

 नैनीताल के क्वारंटीन सेंटर में उत्पाती शराबियों के खिलाफ FIR 

SATYAVOICE.COM रिपोर्टर कुंवर पवन प्रताप सिंह की रिपोर्ट 
 
नैनीताल जिले महामारी एक्ट का उल्लंघन करना दो शराबियों पर भारी पड़ गया। एसडीएम ने कोटाबाग ब्लॉक के एक गांव में क्वारंटीन गिए गए व्यक्तियों पर शराब पीने और उत्पात करने पर मुकदमा दर्ज किया है।
 
क्या था मामला? 
​ग्राम पंचायत ओखालढूंगा में बनाये गये क्वारेन्टाइन केन्द्र में शराब पीकर हंगामा करने वालों लोंगो पर बड़ी प्रशासनिक कार्यवाही की गई है। जानकारी देते हुए उपजिलाधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि जिलाधिकारी सविन बसंल के आदेशों के क्रम में ग्रामीण क्षेत्रों में संस्थागत क्वारंटीन पंचायत भवन तथा सरकारी विद्यालयों में किया जा रहा है। ग्रामप्रधान ओखलढूंगा विकास खण्ड कोटाबाग प्रीति चौरसिया ने लिखित शिकायत देकर बताया है कि उनके द्वारा प्राथमिक विद्यालय ओखलढूंगा में प्रशासन के निर्देशों के क्रम में क्वारंटाइन केंद्र बनाया गया है। विगत 11 मई को 2 व्यक्ति इस केन्द्र में क्वारेन्टाइन किये गये थे तथा 12 मई को ग्राम सभा में 9 प्रवासी आये। जिनको क्वारेन्टाइन सेन्टर में रखा गया। इनको रखे जाने की कार्यवाही राजेन्द्र सिंह चौरसिया द्वारा की गई।
इन शराबियों ने मचाता उत्पात
12 मई को रोहतक हरियाणा से आये 09 व्यक्तियों में से 2 प्रवासी जगदीश सिंह जैतवाल पुत्र धामसिंह तथा मनमोहन सिंह जैतवाल पुत्र धाम सिंह ने शराब पीकर ग्राम प्रधान व ग्राम सभा के जनप्रतिनिधियों के साथ अभद्र भाषा प्रयोग कर गाली-गलौज की तथा पथवार कर जानलेवा हमला भी किया गया। इनके द्वारा नारायण सिंह जैतवाल पहले से क्वारेन्टाइन थे उन पर भी जानलेवा हमला किया गया । जगदीश सिंह द्वारा अपनी माता व अपनी पत्नी पर भी हमला किया गया। इस प्रकार इन दोनों शराबी एवं उत्पाती क्वारेन्टाइन व्यक्तियों ने आपदा प्रबन्धन अधिनियम के तहत उल्लंघन किया है। इससे गाॅव में भय का महौल है। इनकी करतूतों एवं खुले आम घूमने से ग्रामीणों में संक्रमण होने का भय है। लिहाजा इन दोनों के ऊपर कार्यवाही की जाये। ग्राम प्रधान प्रीति चौरसिया के शिकायती पत्र पर उपजिलाधिकारी द्वारा गम्भीरता से लेते हुए एफआईआर कराई गई है।
Leave A Reply

Your email address will not be published.