Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

बांदा: डेढ़ सौ से अधिक ओवरलोड ट्रक सीज, फर्जी दरोगा गिरफ्तार

बांदा। जनपद की सड़कों में बेलगाम दौड़ रहे ट्रकों की रफ्तार से 10 लोगों की मौत और लगातार हो रहे हादसों के खिलाफ एसपी गणेश साहा ने सख्त कदम उठाते हुए बुधवार रात अभियान चलाया। अभियान में 150 से अधिक ओवरस्पीड और ओवरलोड ट्रकों को सीज कर दिया गया। पुलिस की अचानक शुरू हुई छापेमारी से ओवरलोड बालू भरे अवैध ट्रकों के साथ चल रहे खनन माफियाओं में हड़कंप मच गया।  पुलिस ने मौके से एक स्कार्पियो जब्त कर फर्जी दरोगा व 20 से अधिक संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया है।

सिटी मजिस्ट्रेट आलोक मिश्रा ने गुरुवार को बताया कि देर रात ओवरलोड ट्रकों के खिलाफ अभियान चलाया गया जो सुबह तक चला। इस अभियान में करीब डेढ़ सौ ओवरलोड ट्रकों को पकड़ा गया है, जिन्हें सीज किया गया है।उन्होंने बताया कि ओवरलोड ट्रकों को चालक पुलिस से बचाने के लिए ढाबा और पेट्रोल पंपों पर जाकर खड़े हो गए। इन ट्रकों को सीज गया है।

सीओ सदर बलजीत सिंह ने भी बताया कि पुलिस, परिवहन और खनिज विभाग ने संयुक्त रूप से ओवरलोड ट्रकों के खिलाफ अभियान शुरू किया। जिसमें डेढ़ सौ ओवरलोड ट्रक पकड़े गए हैं। इस अभियान के दौरान एक स्कॉर्पियो गाड़ी भी पकड़ी गई है, जिसमें पुलिस की कैप रखी हुई थी। स्कॉर्पियो को सीज किया गया है। स्कॉर्पियो गाड़ी में पकड़े गए अरविन्द्र त्रिवेदी ने खुद को पुलिस चौकी सिमौनी का प्रभारी बताया। जब उससे कड़ाई से पूछताछ की गई तो पता चला कि वह बालू का कारोबार करने वाले व्यक्तियों का ही गुर्गा है। जो गाड़ियों को पास कराने के लिए अपने आप को दरोगा बताता था। सीओ सदर ने बाताया कि इस व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

गौरतलब है कि दो दिन पहले एक तेज रफ्तार ट्रक ने रोडवेज बस को टक्कर मार दी थी। जिसमें नौ य​त्रियों की मौत हुई थी और कुछ ही घंटे बाद दूसरी घटना में ऐसे ही एक ट्रक ने डायल 100 इनोवा को टक्कर मार दी थी, जिसमें एक सिपाही राजकिशोर (35) की मौत हो गयी थी।। जिले में नवम्बर माह में 25 से अधिक मौतें सड़क हादसों में हो चुकी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.