Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

खून देकर भी जिंदगियां बचाने में जुटे हैं उत्तराखंड पुलिस के जवान

SATYAVOICE.COM के लिए संवाददाता कुंवर पवन प्रताप सिंह की रिपोर्ट 

कोरोना के इस मुश्किल दौर में पुलिस कर्मियों की जितनी तारीफ की जाए कम है। क्योंकि पुलिस वाले न सिर्फ सड़कों पर खड़े होकर सोशल डिस्टेंसिंग मैंटेन कर रहे हैं बल्कि बीमार लोगों को जान बचाने के लिए खून भी दे रहे हैं। उत्तराखंड में नैनीताल जिले के हल्द्वानी में तैनात तीन दरोगाओं ने सेवा और जज्बे की ऐसी ही मिसाल पेश की है।

उत्तराखंड पुलिस के तीन जांबाजों को सलाम

 

हल्द्वानी के एक अस्पताल में भर्ती लाललकुआं के रहने वाले पवन मिश्रा को AB- पॉजीटिव ब्लड ग्रुप की जरूरत थी। कोरोना के कारण अधिकतर रिश्तेदार अस्पताल आने से बच रहे थे। ऐसे में पवन के घरवालों ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया। ये पोस्ट पुलिस कर्मियों तक पहुंची। फिर क्या था कोरोना के खौफ को पीछे छोड़ मंडी चौकी इंचार्ज मुनव्वर हुसैन, थाना मुखानी तैनात सब इंस्पेक्टर मनोज पांडे और थाना काठगोदाम में तैनात सब इंस्पेक्टर दीवान सिंह बिष्ट पहुंच गए ब्लड डोनेशन करने। जिससे जरूरमंद की जान बच गई। बीमार पवन मिश्रा के घरवाले ब्लड डोनेशन करने वाले पुलिस कर्मियों का धन्यवाद करते नहीं थक रहे।

जरूरत के मुताबिक रोल बदल डालते हैं पुलिसकर्मी

पुलिस प्रशासन लोगों को  भूख से बचाता हुआ नजर आ रहा था। लेकिन अब पुलिस प्रशासन लोगों को खून देकर भी लोगों की जान बचाते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसे में  नैनीताल के एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने अपने योद्धाओं की जमकर तारीफ की है। एसएसपी मीणा ने कहा है कि नैनीताल पुलिस जरूरमंद लोगों के लिए  24 घंटे तैयार है। एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने यह भी बताया कि पुलिस के जवान एक योद्धा की तरह काम कर रहे हैं।

डीआईजी ने की दिल खोलकर तारीफ

कुमाऊं में पुलिस के सबसे बड़े अधिकारी डीआईजी जगतराम जोशी ने भी अपने योद्धाओं की जमकर तारीफ की है। डीआईडी जोशी ने कहा कि मैं अपने योद्धाओं को सलाम करता हूं। उनका ये उत्साह बना रहे इसके लिए डीआईजी खुद फील्ड पर जाकर अपने कोरोना वॉरियर्स को कभी पानी तो कभी कोल्ड ड्रिंक बांटते दिखते हैं। जिससे उनके कोरोना योद्धाओं का मनोबल ना टूटे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.