Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

बनियाकुंड-चोपता में 22 से 24 फरवरी तक आयोजित होने वाले प्रथम चोपता मोनाल महोत्सव शुरू

रुद्रप्रयाग । उत्तराखंड में मिनी स्वीटजरलैंड कहे जाने वाले चोपता में पर्यटक और स्थानीय लोग साहसिक खेलों के गुण सीख रहे हैं जहां पर्यटकों को स्थानीय लोगों की ओर से पहाड़ी भोजन परोसा जा रहा है। पहली बार चोपता में पर्यटक स्थल पर मोनाल फेस्टीवल में आयोजित किया जा रहा है।

रुद्रप्रयाग का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल चोपता मिनी स्वीटजरलैंड के नाम से भी जाना जाता है। वर्ष भर यहां लाखों पर्यटक पहुंचते हैं। खासकर नवम्बर, दिसम्बर, जनवरी और फरवरी माह में बर्फबारी के बाद यहां पर्यटकों की भरमार रहती है। जिला प्रशासन एवं साहसिक खेल विभाग के तत्वावधान में दो दिवसीय मोनाल स्नो एडवेंचर कार्निवाल ट्रेकिग के साथ शुरू हो गया। पहले दिन प्रशिक्षुओं ने चोपता से चंद्रशिला पैदल ट्रेक का भ्रमण किया। रात्रि को विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। इस अवसर पर विधायक व डीएम ने सारी गांव में पहाड़ी उत्पादों से तैयार पकवानों का लुत्फ उठाया। हालांकि औली की तरह से चोपता को विकसित नहीं किया गया है, लेकिन पहली बार जिला प्रशासन की पहल पर चोपता में बर्फ के बीच होने वाले साहसिक खेलों का आयोजन किया गया है। पहले चरण में इन दिनों पर्यटकों के अलावा स्थानीय लोगों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और 22 से 25 फरवरी तक चोपता में अनेक प्रकार के खेलों का आयोजन किया जायेगा।

केदारनाथ विधायक मनोज रावत व जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने पर्यटन गांव सारी में पहाड़ी व्यंजनों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान रसोई विशेषज्ञ विजय लक्ष्मी गुसाई ने विभिन्न स्वयं सहायता समूहों को दिए गए पहाड़ी व्यंजनों के प्रशिक्षण के बारे में रूबरू कराया।

बतादें कि चोपता में इन दिनों स्कीइंग, साइक्लिंग के अलावा बर्फ के बीच होने वाले अन्य खेलों के गुण सिखाये जा रहे हैं। पर्यटक और स्थानीय लोग इन इस में बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं। चोपता में इस बार भारी बर्फबारी हुई है। जिसके बाद प्रशासन ने चोपता में साहसिक खेलों का आयोजन किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.