Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

कोरोना लाकडाउन अपडेट : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने पूरी कैबिनेट को मैदान में उतारा

मंत्रियों को सौंपी गई जिलों की जिम्मेदारी

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और प्रभावी नियंत्रण के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी मंत्रियों को जिलावार जिम्मेदारी सौंप दी है. जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए मंत्रियों के मोबाइल नंबर भी जारी किए गए हैं. मंत्रियों की जिलावार सूची इस प्रकार है.

देहरादून , उधमसिंह नगर : मदन कौशिक – 9837213339

हरिद्वार : सतपाल महाराज –  9810990009, 8743880008

टिहरी, उत्तरकाशी : सुबोध उनियाल – 9412077900, 8979338888

पौड़ी : डाक्टर हरक सिंह रावत – 8979661777

रुद्रप्रयाग/चमोली : डडाक्टर धन सिंह रावत – 7900440055

चंपावत/,पिथौरागढ़ :  अरविंद पांडे –  9412089301

बागेश्वर :  रेखा आर्य – 9927607880, 8395889380

अल्मोड़ा, नैनीताल : यशपाल आर्य – 9997196151

दूसरे राज्यो में फंसे लोगों की मदद के लिए नोडल अफसर की नियुक्ति

देशव्यापी लाकडाउन के चलते उत्तराखंड से बाहर अलग-अलग जगहों में फंसे प्रदेशवासियों की मदद के लिए राज्य सरकार ने परिवहन सचिव शैलेश बगोली को नोडल अफसर नियुक्त किया है. बगोली देश के विभिन्न क्षेत्रों में फंसे राज्य के लोगों की सुविधा और अन्य राज्यों से समन्वय का काम करेंगे.

आरटीओ- हल्द्वानी राजीव मेहरा को कुमाऊं मंडल तथा आरटीओ देहरादून दिनेश पठाई को गढवाल मंडल का नोडल अफसर बनाया गया है. देहरादून के एआरटीओ द्वारिका प्रसाद को आपदा प्रबंधन केंद्र में तैनात किया गया है.

जेल से पैरोल पर रिहा होंगे कैदी

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए प्रदेश की जेलों में बंद विचाराधीन और सजायाफ्ता कैदियों को पेरोल पर रिहा करने का निर्णय लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक देहरादून स्थित सुद्धोवाला जेल से 120 विचाराधीन और सजायाफ्जा कैदियों को, तथा चमोली जिले की पुरसाड़ी जेल से 15 विचाराधीन कैदियों को रिहा किए जाने का  निर्णय लिया गया है.

इन सभी कैदियों को छह माह के लिए पेरोल पर रिहा किया जाएगा. ये सभी कैदी सात साल से कम सजा वाले अपराधों में विचाराधीन हैं या सजा काट रहे हैं. कैदियों को जेल से घर पहुंचाने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी.

26 मार्च को नैनताल हाईकोर्ट की जस्टिस सुधांशु धूलिया की अध्यक्षता वाली समिति ने प्रदेश की सभी जेलों से ऐसे कैदियों का ब्यौरा मांगा था, जिन्हें पैरोल पर रिहा किया जा सकता है.

इसके बाद 855 कैदियों की सूची सौंपी गई जिनमें से 36 कैदी बीमार थे. इसी क्रम में सुद्धोवाला जेल से 120 कैदियों की सूची समिति को दी गई थी.

उत्तराखंड में सामने आया कोरोना का छठा मामला

प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमण का एक और मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक बीती 18 मार्च को दुबई से लौटे एक युवक में कोरोना वायरस संक्रमण पाया गया है.

युवक देहरादून का रहने वाला है और 18 मार्च को दुबई से लौटा था. दुबई से लौटने के बाद युवक अपने घर पर आइसोलेशन में था, बुखार के लक्षणों के बाद अस्पताल ले जाया गया. युवक की जांच किए जाने पर उसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है.

उत्तराखंड में अब तक कोरोना संक्रमण के पांच मामले सामने आए थे जिनमें से एक ट्रेनी आईएफएस सही हो गया है. शुक्रवार को ट्रेनी आईएफएस को डिस्चार्ज कर दिया गया था. बाकी चारों मरीज दून मेडिकल कालेज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.