Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

बागी और दलबदलू नेताओं को मिले टिकट, कांग्रेस-भाजपा ने AAP से आए 5 लोगों को दिया मौका

विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे के साथ ही रुठने-मनाने का दौर शुरू हो गया है। रुठे नेताओं को दूसरे दलों ने टिकट देने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। खासकर आम आदमी पार्टी के बागियों को भाजपा-कांग्रेस दोनों दलों ने टिकट दिए हैं। आम आदमी पार्टी से नाराज पांच नेताओं को भाजपा-कांग्रेस से टिकट मिला है। इनमें आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार में मंत्री रहे कपिल मिश्रा का नाम भी शामिल है। भाजपा-कांग्रेस ने अभी कुछ सीटों पर प्रत्याशियों के नामों की घोषणा नहीं की है, माना जा रहा है कि इन सीटों पर भी आम आदमी पार्टी से कुछ बागी उम्मीदवारों को मैदान में उतारा जा सकता है।

कपिल मिश्रा को उम्मीदवार बनाया : 

आम आदमी पार्टी सरकार में मंत्री रहे कपिल मिश्रा को भाजपा ने मॉडल टाउन से उम्मीदवार बनाया है। कपिल मिश्रा करावल नगर से विधायक थे, इन्होंने लंबे समय से आम आदमी पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था। इसी प्रकार कांग्रेस पार्टी ने भी अल्का लांबा को चांदनी चौक से विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी बनाया है।

अलका लांबा ने भी बीते दिनों लगातार आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा था। भाजपा ने गांधीनगर से विधायक रहे अनिल वाजपेयी को प्रत्याशी बनाया है। अनिल वाजपेयी ने लोकसभा चुनाव के समय दिल्ली भाजपा का दामन थामा था। इसी प्रकार द्वारका से विधायक रहे आदर्श शास्त्री को भी कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में उतारा है।

आम आदमी पार्टी ने आदर्श शास्त्री का टिकट काटकर कांग्रेस के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा को टिकट दिया है। वहीं, बदरपुर से विधायक रहे एनडी शर्मा ने बसपा का दामन थाम लिया है। बसपा ने एनडी शर्मा को टिकट दिया है।

पार्टी छोड़ते ही मौका

 आम आदमी पार्टी ने भी बहुत से ऐसे उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जिन्होंने टिकट मिलने से महज सप्ताह भर पहले ही पार्टी की सदस्यता ली। इनमें ज्यादातर प्रत्याशी कांग्रेस से आए हैं। द्वारका से विनय मिश्रा, बदरपुर से रामसिंह नेताजी, मटिया महल से शोएब इकबाल, गांधीनगर से दीपू चौधरी, हरिनगर से राजकुमारी ढिल्लो और जयभगवान उपकार (बसपा) ऐसे दल बदलू हैं, जिन्हें आम आदमी पार्टी की ओर से टिकट दिया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.