Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

कश्मीर में एसएमएस सेवा बंद होने के बावजूद परिवार को हर रोज संदेश भेजता रहा यह शख्स!

पैरामिलिट्री यूनिट (अर्धसैनिक इकाई) के लिए काम करने वाले राकेश कुमार (बदला हुआ नाम) ने अपने परिवार को एसएमएस भेजने के लिए एक नया तरीका खोज निकाला। हालांकि कश्मीर घाटी में पांच अगस्त से एसएमएस, इंटरनेट सेवा का बंद रहना बदस्तूर जारी है।

अधिकारियों ने घाटी में पोस्ट-पेड मोबाइल फोन सेवाओं को बहाल कर दिया है, लेकिन पांच अगस्त से अनुच्छेद 37० के निरस्त होने के बाद से एसएमएस और इंटरनेट सेवा अभी भी बंद हैं। प्रीपेड मोबाइल फोन सेवा अभी भी बहाल किया जाना है। इस बीच, राकेश पिछले तीन महीनों से श्रीनगर के पुराने शहर क्षेत्र में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए ड्यूटी पर तैनात हैं।

वह ड्यूटी की अवधि के दौरान हरियाणा में अपनी पत्नी को फोन करने के लिए अपने मोबाइल फोन का उपयोग नहीं कर सकते हैं, जिससे उनकी पत्नी को चिंता होती है। कानून-व्यवस्था पर ड्यूटी के दौरान निजी उद्देश्यों के लिए मोबाइल फोन का उपयोग करना अर्धसैनिक बल के सेवा नियम के खिलाफ है।

फिर वह ड्यूटी की अवधि के दौरान अपने हालचाल के बारे में परिवार को कैसे जानकारी देते हैं, जबकि एसएमएस सेवा बंद है? पिछले एक महीने से, राकेश अपने खाते से प्रतिदिन 100 रुपये निकालने के लिए अपने एटीएम कार्ड का उपयोग कर रहे हैं, जिसने सुरक्षा गार्ड को उनके इस नियमित व्यवहार के बारे में जानने के लिए उत्सुक कर दिया।

शुक्रवार को, गार्ड ने आखिरकार साहस कर राकेश से पूछ लिया कि वह प्रत्येक दिन 100 रुपये क्यों निकालते हैं, जबकि वह एक बार में 3,000 रुपये निकाल सकते हैं और खुद को रोजाना एटीएम जाने की परेशानी से बचा सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.