Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

डीएम की कृपा से आसान होंगे छोटा कैलाश के दर्शन 

नैनीताल (NAINITAL) के भीमताल (BHIMTAL) ब्लॉक में है भगवान शिव (SHIVA TEMPLE)  का वो धाम मौजूद है जिसे लोग छोटा कैलाश के नाम से जानते हैं। छोटा ( CHOTA KAILASH​) कैलाश तक की यात्रा अब थोड़ा आसान होने जा रही है। क्योंकि नैनीताल के डीएम (DM) सविन बंसल (SAVIN BANSAL) ने कठिन चढ़ाई वाली यात्रा को आसान बनाने के लिए 10 लाख रुपये देने का निर्णय लिया है। जिससे धाम तक पहुंचने का रास्ता बन सकेगा।
साल भर लगा रहता है भक्तों का तांता 
साल भर यहां भक्तों का तांता लगा रहता है। देश-विदेश से श्रद्धालु और पर्यटक (TOURIST) यहां दर्शन के लिए पहुंचते हैं। लेकिन छोटा कैलाश तक उडुंवा गांव से होकर जाने वाला रास्ता बेहद खराब है। इतना खराब कि इस रास्ते के अगर किसी का पैर फिसला को सैकड़ों फिट गहरी खाई में गिरना तय है।  डीएम सविन बंसल पिछले दिनों खुद इसी रास्ते से होकर लोगों की जन समस्याएं सुनने गांव पहुंचे थे। अपनी इस यात्रा के दौरान डीएम दो बार गिरते-गिरते बचे। इस दौरान डीएम ने बिना कुछ कहे ही ग्रामीणों को बेहतर रास्ता बनाने का भरोसा दिया था।

छोटा कैलाश के बारे में मान्यता
छोटा कैलाश सड़क से तकरीबन पांच किलोमीटर की दूरी पर है। ऊंची चोटी पर बसे इस धाम से मैदान से लेकर दूर-दूर के पहाड़ के नजारे देखे जा सकते हैं। जिसके के बारे में मान्यता है कि सतयुग में देवादिवेव महादेव यहां आए। उन्होंने इसी पर्वत पर माता पार्वती के साथ विश्राम किया। साथ ही महादेव ने यहां धूनी रमाई। तभी से मान्यता है कि यहां अखंड धूनी जल रही है। मान्यता है कि यहां पहुंचकर शिवलिंग की पूजा करने से भक्तों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। जिसके बदले भक्त प्रसाद, घंटी और चांदी छत्र चढ़ाते हैं। आज भी कई साधु-संत-महात्मा यहां आकर तपस्या करते हैं। मान्यता है कि यहां तपस्या करने से सिद्धि की प्राप्ति होती है।
Leave A Reply

Your email address will not be published.