Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

पुरानी पेंशन बहाल नहीं हुई तो कर्मचारी करेंगे आंदोलन

बागेश्वर: पुरानी पेंशन बहाली को विधानसभा सत्र में रखने की मांग तेज हो गई है। गुरुवार को कर्मचारियों ने क्षेत्रीय विधायक चंदन राम दास को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि उनकी मांग जायज है और उसका समर्थन मिलना चाहिए। मांग पूरी न होने पर उन्होंने आंदोलन की चेतावनी दी। राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली मोर्चा के सदस्यों और कर्मचारी नेताओं ने विधायक को सौंपे ज्ञापन में कहा कि पुरानी पेंशन की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन चरम पर है। एक अक्टूबर 2005 के बाद पुरानी पेंशन योजना को समाप्त कर दिया गया है। नई पेंशन योजना लागू की गई है। यह सभी पेंशन अन्यायपूर्ण है। पेंशन कम होने के कारण सेवानिवृत्ति के बाद एक सम्मानित जीवनयापन कर पाना मुश्किल होगा। उन्होंने कर्मचारियों के इस मुद्दे को विधानसभा सत्र में उठाने की मांग की। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन का मुद्दा कर्मचारियों के भविष्य से जुड़ा है। कहा कि नई पेंशन योजना कर्मचारियों के भविष्य से खिलवाड़ है। इसके समाप्त करवाने के लिए आर-पार के संघर्ष के लिए भी कर्मचारी तैयार हैं। कहा कि नई पेंशन योजना के तहत कर्मचारियों की गाढ़ी कमाई का लाभ निजी कंपनियों को दिया जा रहा है, जिसके बारे में कई कर्मचारियों को जानकारी नहीं है। कहा कि कार्यकारिणी के गठन के साथ इन कर्मचारियों को जागरूक करने का काम भी प्रमुखता से किया जाएगा। इस मौके पर मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य आलोक पांडे, प्रदेश संयोजक मिलिद बिष्ट, पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष केसी मिश्रा, मिनिस्ट्रीयल फेडरेशन के जिलाध्यक्ष अनिल जोशी आदि मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.