Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

सुविधा: आप भी जानिए, कौन से बड़े अस्पताल में हुआ बैंकिंग सुविधाओं का विस्तार

ऋषिकेश– यहां स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( एम्स ) में सोमवार को पंजाब नेशनल बैंक की ओर से एटीएम सुविधाओं के साथ साथ बैंकिंग सुविधा का विस्तारीकरण कर दिया गया, इसके अलावा संस्थान में बैंक की ओर से ई-रुपिया कार्ड काउंटर सुविधा शुरू कर दी गई है। जिससे एम्स में उपचार के लिए आने वाले मरीजों व उनके तीमारदारों को सुविधा मिल सकेगी। सोमवार को एम्स संस्थान के इमरजेंसी के समीप स्थापित पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम विस्तारीकरण सुविधा व प्लास्टिक मनी कन्वर्जन काउंटर का संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत व पीएबी के अंचल प्रबंधक सोमेंदू कुमार दास ने संयुक्तरूप लोकार्पण किया।

इस अवसर पर निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने कहा कि एम्स अस्पताल में पीएनबी की ओर से अतिरिक्त एटीएम व अन्य बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराना अच्छी पहल है। बैंक के इस प्रयास से संस्थान में उपचार कराने के लिए प्रतिदिन दूर दराज क्षेत्रों से पहुंचने वाले हजारों मरीजों व उनके तीमारदारों को धन आहरण की सुविधा मिल सकेगी और उन्हें इसके लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। निदेशक एम्स ने बताया कि एम्स अस्पताल के इंट्रेंस पर एटीएम की उपलब्धता से अधिकाधिक लोगों को यह सहूलियत मिल सकेगी। गौरतलब है कि संस्थान में पहले से ही कैशलेस स्वास्थ्य सुविधाएं लागू कर दी गई हैं, जिसके लिए एम्स ऋषिकेश को डिजिटल इंडिया अवार्ड से नवाजा जा चुका है।

ऐसी स्थिति में पंजाब नेशनल बैंक की ओर से विस्तारीकरण के तहत कैशलेस सुविधा को बढ़ाने के लिए स्मार्ट कार्ड सुविधा उपलब्ध कराना बेहतर निर्णय है। बैंक के मुख्य प्रबंधक एसके सिन्हा ने बताया कि पीएनबी द्वारा स्थापित ई-रुपिया कार्ड काउंटर पर कोई भी मरीज अपनी नकदी देकर प्रि-पेड कार्ड ले सकते हैं और एम्स में किसी भी काउंटर पर पैमेंट के समय इसका उपयोग कर सकते हैं। यदि उसके बाद उसके प्रि-पेड कार्ड में धनराशि शेष रह जाती है तो वह ई-रुपिया कार्ड काउंटर पर अपना कार्ड लौटाकर अपनी धनराशि वापस ले सकता है।

उन्होंने बताया कि बैंक की ओर से मरीजों के लिए यह सुविधा निशुल्क उपलब्ध कराई गई है। इस सुविधा के लिए एम्स संस्थान अथवा मरीज को बैंक को किसी भी तरह का शुल्क अथवा धनराशि नहीं देनी पड़ेगी। इस अवसर पर एम्स के उप निदेशक प्रशासन अंशुमन गुप्ता, डीन प्रो. मनोज गुप्ता, मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. ब्रह्मप्रकाश, वित्तीय सलाहकार पीके मिश्रा, पीएनबी के मंडल प्रमुख आरडी सेवक, एजीएम पीएस भंडारी, प्रभात शुक्ला,एससी पसरीचा, वरिष्ठ प्रबंधक इंद्र सिंह रावत, एलडीएम संजय भाटिया, चीफ मैनेजर संतोष कुमार सिन्हा आदि मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.