Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तराखंड के इस डीएम का जानवरों के लिए भी धड़कता है दिल

कोरोना लाॅकडाउन के समय में आवार पशुओं और कुत्तों को बचाने के लिए नैनीताल जिले में अनोखी पहल देखने को मिल रही है। जिले में डीएम सविन बंसल एक के आदेश पर पशु पालन विभाग ऐसे जानवरों के लिए चारे और खाने का इंतजाम करने में जुटा है। पशुपालन की टीम जगह-जगह जाकर ऐसे पशुओं को चारा और खाना देने में जुटी हैं।

जिलाधिकारी सविन बंसल ने बेजुबान जानवरो को कोरोना संक्रमण काल में जिन्दा रखने के लिए पहल करते हुए पशुपालन विभाग को 16.80 लाख का बजट दिया गया है। डीएम ने साफ निर्देश दिया है कि नगर निगम, नगर पालिकाओं के माध्यम से निराश्रित पशुओं व कुत्तों की सूची हासिल कर उन्हें चारा और भोजन उपलब्ध कराया जाए जिसके क्रम में पशुपालन विभाग द्वारा कार्यवाही की जा रही है। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ.पीएस भण्डारी के निर्देशन में पशुपालन महकमें के पशु चिकित्साधिकारियों व कर्मचारियों के सहयोग से पशुओं को हरा चारा व श्वानो को बिस्किट व रोटी , बेड व अन्य भोजन दिया जा रहा है।
बुधवार को पशुपालन विभाग की टीम के साथ हल्द्वानी के मेयर डाॅ. जोगेन्द्रर पाल सिंह रौतेला ने शहर में निराश्रित पशुओं को हरा चारा और भोजन दिया। डाॅ. रौतेला ने जिलाधिकारी बंसल की इस पहल का स्वागत करते हुए कहा कि इस कोरोना लाॅकडाउन के समय में निराश्रित मूक जानवरों को भोजन उपलब्ध करा कर उनके जीवन की रक्षा करना हम सब का दायित्व है।
जिलाधिकारी बंसल ने स्वंय सेवी संस्थाओं और आमल लोगों से भी निराश्रित पशुओं को चारा व भोजन उपलब्ध कराने की अपील की है।बुधवार को तिकोनिया, सुभाष नगर, काठगोदाम चैराहा, चम्बल पुल व राजपुरा में पशुओं को चारा व भोजन दिया गया। इस दौरान नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया, सहायक आयुक्त विजेन्द्र चैहान, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ. पीएस भण्डारी, डाॅ धीरेश चन्द्र, आयुष नेगी, पशु प्रसार अधिकारी केएन काण्डपाल , केएस बोरा, इन्द्र सिंह मौजूद थे।

(पवन कुंवर की रिपोर्ट)

Leave A Reply

Your email address will not be published.