Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि हुई घोषित

केदारनाथ। महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि पौराणिक परम्पराओं और पंचाग पूजा के तहत घोषित की गई। बाबा केदार के कपाट 29 अप्रैल को मेष लग्न में प्रातः 6 बजकर 10 मिनट पर खोले जाएंगे।

बाबा केदार की पंच मुखी चल विग्रह उत्सव डोली 26 अप्रैल को अपने शीतकालीन गद्दीस्थल ओम्कारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से केदारनाथ धाम के लिए प्रस्थान करेगी। 26 को बाबा की डोली फाटा और 27 को गौरीकुंड में रात्रि प्रवास करेगी। जबकि 28 अप्रैल को डोली केदारनाथ पहुंचेगी। आज महाशिवरात्रि व्रत पर क्षेत्र के विभिन्न शिव मंदिरों में प्रातः काल से खासी भीड़ रही। इस दौरान भक्तों ने भगवान शंकर के लिंग पर तुलसी दल, भांग पत्र तथा पंचामृत से स्नान कर भोले की आरती उतारी।

बताते चलें कि पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि व्रत को धूमधाम से मनाया जाता है। इसी दिन दुनिया के प्रादुर्भाव की कल्पनाएं मानी जाती है। केदारनाथ यात्रा के सकुशल संचालन एवं विश्व कल्याण के लिए ओंकारेश्वर मंदिर परिसर में महायज्ञ कर आहुतियां दी जा रही हैं। दोपहर को धार्मिक कार्यक्रमों के बाद शाम छह बजे से ओंकारेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व की पूजा-अर्चना शुरू हो जाएगी।

लाखों के रोजगार और आजीविका का साधन है केदारधाम

बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के साथ ही केदारघाटी में यात्रा को लेकर लोग तैयारियों में जुट जाते हैं. आपको बता दें कि चारधाम यात्रा के अंतर्गत श्रद्धालु उत्तराखंड स्थित केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री जाते हैं. यह यात्रा लाखों लोगों के रोजगार और आजीविका का बहुत बड़ा माध्यम है.

30 अप्रैल को खुलेंगे बदरीनाथ मंदिर के कपाट

आगामी 30 अप्रैल को भगवान बदरीनाथ मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। कपाट ब्रह्म मुहूर्त में प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। भगवान बद्री विशाल के महाभिषेक के लिए 18 अप्रैल को तिलों का तेल पिरोया जाएगा।

बद्रीनाथ धाम के कपाट पिछले साल 17 नवंबर को शाम 5:13 बजे शीतकाल के लिए बंद किए गए थे। श्री बदरीनाथ मंदिर परिसर में विजय दशमी के दिन आयोजित भब्य धार्मिक समारोह में श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने कपाट बंद होने की घोषणा की थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.