Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तराखंड में स्कूल टीचर्स को लगातार दूसरे दिन मिली अच्छी खबर

राज्य के 16 हजार 608 विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों के लिए बेहतरीन खबर है।  मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने राज्य के विशिष्ट बीटीसी कोर्स को मान्यता दे दी है। विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों का मामला पिछले तीन साल से विवादित था। मान्यता न होने से कई शिक्षकों की योग्य नहीं रह गए थे। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि शिक्षकों की इस परेशानी को राज्य सरकार लगातार केंद्र के सामने रख रही थी। पांडे ने कहा कि इस मान्यता के लिए केंद्र से मिली हरी झंडी के बाद अब शिक्षकों को राहत ही राहत है।

ऐसे मिली राहत 

राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के वर्ष 2001 से 2018 की अवधि के विशिष्ट बीटीसी कोर्स को मान्यता मिल गई है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद एक्ट के तहत बैक डेट से मान्यता देने की अधिसूचना जारी कर दी। जिससे उत्तराखंड समेत कई अन्य राज्यों को राहत मिल गई है।

नौकरी, प्रमोशन दोनों

एनसीटीई के मानक के अनुसार 31 मार्च 2019 तक हर बेसिक शिक्षक को शैक्षिक योग्यता पूरी करनी थी। बीएड कर चुके शिक्षकों के लिए एनसीटीई ने छह महीने के ब्रिज कोर्स की सुविधा दी थी। क्योंकि राज्य के शिक्षकों ने विशिष्ट बीटीसी सरकार के निर्देश पर की थी। इसलिए उन्होंने ब्रिज कोर्स का बहिष्कार कर दिया। एनसीटीई की मान्यता न होने से जहां इन शिक्षकों की नौकरी पर तलवार लटकी थी। शिक्षकों को प्रमोशन प्रक्रिया का भी उन्हें लाभ नहीं मिल रहा था। लेकिन अब उन्हें प्रमोशन में भी इसका लाभ मिलेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.