Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

कोरोना से बचाएगी स्ट्रोंग इम्यूनिटी

कुलदीप तोमर

कुलदीप तोमर : कोविड-19 के संक्रमण का कहर विश्वव्यापी हो चुका है और धीरे-धीरे यह भारत में भी पैर पसार रहा है। चिकित्सक बातते हैं कि कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए अभी तक भी कोई दवाई नही है, ऐसे में इस बिमारी से बचाव ही सबसे अच्छी चिकित्सा है।  यदि हम अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी स्ट्रोंग कर लें और कोई अनुवांशिक बिमारी ना हो तो हम इस बिमारी से काफी हद तक बचाव कर सकते हैं। कोरोना वायरस का संक्रमण इसलिए हावी होता है क्योंकि शरीर की इम्यूनिटी पॉवर धीरे-धीरे कमजोर पड़ने लगती है। तो आइये विस्तार से जानते हैं कैसे हम अपने शरीर की इम्यूनिटी को स्ट्रोंग करके कोविड-19 वायरस को टक्कर दे सकते हैं-

क्या है इम्यूनिटी

इम्यूनिटी शरीर की वह ताकत होती है जोकि बिमारियों से लड़ती है, यह एक प्रकार का सुरक्षा कवच होता है जोकि शरीर को विभिन्न बिमारियों से बचाता है। इम्यूनिटी सिस्टम यानि प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत या कमजोर होने का सीधा संबंध शरीर से है। यदि इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होगा तो यह शरीर की बाहरी बैक्टीरिया, वायरस, फंगस आदि से देर तक लडता रहेगा और यदि कमजोर है तो यही बैक्टीरिया, वायरस, फंगस शरीर में पंहुचकर कई प्रकार की बिमारियों को जन्म देते है। इम्यूनिटी सिस्टम में सेल्स, टिश्यूज अपनी सक्रिय भूमिका अदा करते है और बाहरी रोगवाहकों की पहचान करने में सक्षम होते है। यदि प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है तो रोगवाहक की पहचान कर यह लडाई करते है और उन्हें शरीर से बाहर कर देते है यानि की शरीर को होने वाली बिमारी से बचाते है। कहने का तात्पर्य है कि अगर इम्युनिटी स्ट्रांग हो गयी तो फिर कोई भी शरीर पर आसानी से हमला नहीं कर सकता, फिर चाहे वो कोरोना वायरस ही क्यों न हो। इम्युनिटी उस वायरस को शरीर के अंदर फैलने से पहले ही खत्म कर देती है। इतना ही नही, कमजोर इम्यूनि सिस्टम में यदि बाहर से कोई रोगवाहक हमला करता है तो इम्यूनिटी सिस्टम खराब हो जाता है और शरीर के अंदर मौजूद ऑटो इम्यून बाहरी रोगवाहकों से लड़ने के बजाए स्वत शरीर के अंदर ही हमला करने लगते है।

इसलिए कमजोर होता है हमारा इम्यूनिटी सिस्टम

  • -फास्ट फूड का अधिक सेवन करने से
  • -धुम्रपान और नशीली वस्तुओं का सेवन करने से
  • -समय पर खाना ना खाने से
  • -शरीर में विटामिन-सी, डी और बी कॉम्पलेक्स की कमी से
  • -ज्यादा तनावग्रस्त जिंदगी जीने से
  • -आधी-अधुरी नींद लेने से

ऐसे होगा इम्यूनिटी सिस्टम स्ट्रोंग

प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना होगा। इसके अलावा शरीर और अपने आसपास की साफ-सफाई का प्रभाव भी इम्यूनिटी सिस्टम पर पड़ता है। यदि आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता किसी वायरस से लड़कर उसे बाहर निकालती है तो उसके बाद प्रतिरोधक क्षमता स्वत भी छोड़ी कमजोर पड़ जाती है। यदि आप अपने आसपास साफ-सफाई का ध्यान नही रखेगें तो दोबारा कोई संक्रमण आपके शरीर को अपनी चपेट में लेने की कोशिश कर सकता है। इसके अलावा टेंशनफ्री रहकर भी आप इम्यूनिटी स्ट्रोंग कर सकते है। क्योंकि तनाव का शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

स्ट्रोंग इम्यूनिटी के लिए विटामिन-सीडी है जरूरी

चिकित्सक बताते है कि विटामिन सी की कमी की वजह से इम्यूनिटी सिस्टम अधिकांशत कमजोर पड़ता है और विटामिन-सी का अधिक सेवन करने से इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है। इसलिए आप भी अपने भोजन में विटामिन-सी को शामिल करें। इसके अलावा विटामिन सी के अलावा यदि शरीर में विटामिन-डी और बी कॉम्प्लेक्स की कमी होती है उनकी इम्यूनिटी पॉवर भी कमजोर होती है। विटामिन-सी लेने के लिए आप आंवला, नींबू और मौसमी जैसे फल खा सकते है।

पोष्टिक और नियमित आहार भी है जरूरी

वास्तव में आप अपने शरीर के प्रति जितने जागरूक होगें,उतना ही आपका इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होगा। इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने के लिए कोई दवाई या ट्रिटमेंट की जरूरत नही है। बस आपको अपनी सेहत के प्रति जागरूक होना ही काफी है। पोष्टिक आहार और आहार का नियमित सेवन भी प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बाहर का खाना खाने से बचें क्योंकि इसमें कई बार विषैले तत्व शरीर में प्रवेश कर जाते है। समय पर खाने खाएँ।

योगा या व्यायाम से भी मजबूत होती है प्रतिरोधक क्षमता

इम्यूनिटी को स्ट्रोंग रखने के लिए जीवनशैली के विभिन्न आयामों पर जागरूक होना पडेगा। पोष्टिक आहार, टेंशन फ्री लाइफ आदि के अलावा आपको व्यायाम और योगा पर भी ध्यान देना होगा। व्यायाम से जहां शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट और कैलोरी बर्न होती है वही इससे शरीर को मानसिक सुख की अनुभूति भी होती है। जोकि इम्यूनिटी को स्ट्रोंग करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

इन बातों का रखें ध्यानइम्यूनिटी होगी स्ट्रोंग

  • -कम से कम छह से आठ घंटे की नींद जरूर लें।
  • -प्रतिदिन व्यायाम या फिर योगा करें, यदि यह भी नही कर सकते तो रोज टहलें जरूर।
  • -कम से कम स्ट्रेस लें।
  • -प्रतिदिन कम से कम 10 मिनट के लिए अवश्य लें सूरज की रोशनी,इससे आपके शरीर में विटामिन डी की कमी पूरी होगी।
  • -खाना समय पर खाएं।

ये फल और सब्जियां करेगी आपकी इम्यूनिटी को स्ट्रोंग

  • सेब- सेब का सेवन करने से शरीर में कई प्रकार के विटामिन्स और मिनिरल्स की कमी दूर होती है। इससे इम्यूनिटी काफी स्ट्रोंग होती है। सेब में मौजूद पोटाशियम, कैल्शियम, सोडियम और आयरन जैसे तत्व शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को ओर अधिक मजबूत बनाने में कारगर भूमिका अदा करते है।
  • मशरूम-मशरूम को इम्यूनिटी बूस्टर भी कहा जाता है। मशरूम की सब्जी खाने से शरीर को जिंक मिलता है जिससे शरीर की ब्लड सेल्स को मजबूती प्रदान करती है, इससे बाहरी संक्रमण से लड़ने की ताकत मिलती है।
  • लेमन टी-लेमन टी से पेट साफ रहता है और इम्यूनिटी स्ट्रोंग होती है।
  • दही-दही के सेवन से शरीर में गुड बैक्टीरिया बनते है क्योंकि यह प्राकृतिक प्रोबायोटिक है। जिनसे इम्यूनिटी स्ट्रोंग होती है।
  • लहसून और अदरक- इन दोनों में भी ऐसे तत्व मिलते है जोकि स्ट्रोंग इम्यूनिटी के लिए काफी जरूरी है। लहसून में प्राकृतिक एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते है। यह शरीर में खून को साफ करने वाले एंजाइम्स की संख्या को बढ़ाता है।
  • (इसके अलावा अंडा, मीट और दालें खाने से भी इम्यूनिटी स्ट्रोंग हो सकती है)
(फोर्टिस अस्पताल की गैस्ट्रोइंट्रोलॉजिस्ट डॉ.मोनिका जैन और मैक्स अस्पताल की सीनियर डाइटिशियन नीलम सिंह से बातचीत पर आधारित)
Leave A Reply

Your email address will not be published.