Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

हॉन्ग कॉन्ग: प्रदर्शन के दौरान मौत, पुलिस ने बताया हत्या

70 वर्षीय सफ़ाई कर्मचारी को नक़ाबपोश प्रदर्शनकारियों की फेंकी ईंट से चोट लग गई थी और बाद में अस्पताल में उसकी मौत हो गई. हॉन्ग कॉन्ग में एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार ऐसा हुआ है जब प्रदर्शनों के दौरान किसी की मौत हुई है. पिछले दिनों एक पुलिस कार्रवाई के दौरान एक इमारत से गिरने के कारण 22 वर्षीय छात्र एलेक्स चाउ की मौत हो गई थी.

हॉन्ग कॉन्ग में पिछले पाँच दिनों से लगातार लंच के दौरान लोग सड़कों पर निकल प्रदर्शन कर रहे हैं.इस बीच लंदन की आधिकारिक यात्रा पर गईं हॉन्ग कॉन्ग की न्याय मंत्री टेरीज़ा चेंज भी प्रदर्शनकारियों से हाथापाई के दौरान गिरकर घायल हो गईं. चीन ने इस घटना की निंदा की है.

हॉन्ग कॉन्ग के सीमावर्ती शहर शेउंग शुई में बुधवार को एक प्रदर्शन के दौरान 70 वर्षीय क्लीनर के सिर में चोट लग गई थी. गुरुवार को अस्पताल में उनका निधन हो गया. घटना से संबंधित वीडि​यो में नजर आ रहा है कि सिर में चोट लगने के कारण इस शख़्स के ज़मीन पर गिरने से पहले दो समूह एक-दूसरे पर पथराव कर रहे थे.

एक पुलिस अधिकारी ने समाचार समूह साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट को बताया कि यह शख़्स प्रदर्शन में शामिल नहीं था और वहां तस्वीरें ले रहा था. फ़ूड एंड एन्वायर्नमेंटल हाइजीन डिपार्टमेंट (एफ़ईएचडी) ने मारे गए शख़्स के बारे में बताया कि वह लंच ब्रेक पर था. एफ़ईएचडी ने नक़ाबपोश प्रदर्शनकारियों की निंदा करते हुए उन्हें “बेहद ख़तरनाक” क़रार दिया.

बयान में कहा गया है, “उन्होंने तीन दिनों में कई ज़िलों में हिंसक वारदातों को अंजाम दिया, जहां उन्होंने आम लोगों के साथ मारपीट भी की.” हॉन्ग कॉन्ग में इस सप्ताह हिंसा में बढ़ोतरी हुई है. सड़कों पर हिंसा की कई घटनाएं हुई हैं, विश्वविद्यालयों में हिंसक झड़पें हुई हैं और लंच टाइम के दौरान अचानक से आई भीड़ ने प्रदर्शन किए हैं.

सोमवार को एक प्रदर्शनकारी ने एक पुलिस अधिकारी को गोली मार दी और सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के साथ बहस कर रहे एक शख़्स को आग लगा दी गई.

Leave A Reply

Your email address will not be published.