Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

जहां की थी दरिंदगी, पुलिस ने वहीं कर दिया ढेर

हैदराबाद। देश को हिलाकर रख देने वाले हैदराबाद के दिशा रेप और हत्याकांड के चारों आरोपितों को पुलिस ने आज तड़के हिरासत से भागने के दौरान मार गिराया। पुलिस उन्हें घटना स्थल पर सीन रिक्रिएट करने के लिए ले गई थी। उसी दौरान इन चारों आरोपितों ने भागने का प्रयास किया, नतीजतन पुलिस को गोली चलानी पड़ी, जिसमें वे चारों मारे गए। साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर श्री सज्जनर ने इसकी पुष्टि की है और वह घटना स्थल पर पहुंच गए हैं।

बताया जा रहा है कि पुलिस ने चारों आरोपितों को आज तड़के करीब 3.30 बजे शादनगर के पास नेशनल हाइवे 44 पर घटना स्थल (चट्टानपल्ली ब्रिज) पर क्राइम सीन रिक्रिएट कराने के लिए ले गई थी और उनसे सीन रिक्रिएट करने के लिए कह रही थी। बताया जा रहा है कि उस दौरान आरोपितों ने भागने का प्रयास किया। पुलिस ने इन्हें अपने तरीके से रोकने की कोशिश की लेकिन जब पुलिस को लगा वह इन्हें सामान्य तरीके से काबू नहीं कर पाएगी तो पुुलिस ने गोली चलाई, जिसमें चारों आरोपित मारे गए। फिलहाल ये सभी सात दिन की पुलिस हिरासत में थे। हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर और अन्य आला अफसर भी मौके पर पहुंच चुके हैं। पुलिस ने इन सभी के शवों को मौके से हटा दिया है ताकि किसी भी तरह का हंगामा न हो।

उल्लेखनीय है कि 28 नवम्बर को 22 साल की महिला डाक्टर दिशा का अधजला शव नेशनल हाइवे 44 के निकट शादनगर इलाके में मिला था। उसके साथ 27 नवम्बर की रात में रेप करने के बाद शव को जलाने का प्रयास किया गया था। इस मामले में पुलिस ने चार लोगों मोहम्मद आरिफ पाशा ,जोल्लू शिवा ,जोल्लू नवीन और चेन्नकेशवुलु को गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने इन्हें एक सप्ताह की पुलिस हिरासत में भेजा था।  हैवानियत भरे इस कांड के बाद से देश भर में उबाल था और चारों को फांसी दिए जाने की मांग उठ रही थी।

स्वाति मालीवाल ने अनशन खत्म किया

उधर, दिशा रेप एवं हत्याकांड के विरोध में देश के विभिन्न हिस्सों में लोग आंदोलनरत थे। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी पिछले तीन दिनों से आमरण अनशन पर थीं। आज सुबह दिशा रेप और हत्याकांड के चारों आरोपितों को पुलिस द्वारा मार गिराए जाने की सूचना मिलने के बाद उन्होंने आमरण अनशन खत्म कर दिया। उन्होंने पुलिस कार्रवाई पर संतोष व्यक्त किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.