Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

नए साल के मौके पर भारत और जापान के बीच संबंध को और प्रगाढ़ बनाने का संदेश

नई दिल्‍ली: नए साल के मौके पर भारत और जापान के बीच संबंध को और प्रगाढ़ बनाने का संदेश देते हुए भारत में जापान के राजदूत सातोषी सुजुकी (Satoshi Suzuki) ने शुक्रवार को नर्व वर्ष की शुभकामनाएं दी हैं। उन्‍होंने कहा, ‘सभी को नए साल की शुभकामनाएं। मैं जापान-भारत द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए अपनी अटूट प्रतिबद्धता को फिर से दोहराना चाहता हूं और अगले चरण में हमारे दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने का उद्देश्‍य होगा।’

कुछ दिन पहले ही जापान ने भारत को ‘एशिया का गुरुत्व केंद्र’ बताया था और बताया कि चार प्रमुख देशों की मौजूदगी वाले क्वाड समूह की दिशा में भारत से और अधिक प्रतिबद्धता दिखाने का आग्रह किया है। जापान के उप रक्षा मंत्री याशुहिदे नाकायामा ने में क्षेत्र के प्रमुख समुद्री क्षेत्र में चीन के आक्रामक रवैये से उभरती चुनौतियों को लेकर भी चिंता जताई।

नाकायामा ने यह भी कहा कि जापान भारत को बेहद प्यार करता है। चीन की ओर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत के साथ दिखाए जा रहे आक्रामक रवैये का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि जापान दोनों देशों के बीच तनाव को कम करना चाहता है। उन्होंने कहा,  इन हालात से निपटने के लिए एक जैसी सोच वाले देशों का आपसी सहयोग बढ़ाना बेहद अहम है। नाकायामा ने कहा, जापान, भारत, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया एक लोकतांत्रिक तंत्र और मुक्त व खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र की अहमियत समझते हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में चारों देशों का क्वाड समूह ज्यादा मजबूत होकर उभरेगा। नाकायामा ने कहा, निजी तौर पर मैं भारत की स्थिति समझता हूं और उनसे निजी आग्रह करता हूं कि मुक्त व खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए ज्यादा प्रतिबद्धता दिखाए। हम एक मजबूत भारत चाहते हैं। भारत एशिया का गुरुत्व केंद्र है और बेहद अहम है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.