Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

झारखंड विधानसभा चुनाव : डगर नहीं आसान

महाराष्ट्र और हरियाणा के बाद अब झारखंड में चुनावी बिगुल बज गया है। चुनाव आयोग ने पांच चरणों में होने वाले मतदान के लिए तारीखों की घोषणा कर दी है। 80 सीटों वाली झारखंड विधानसभा के लिए 30 नवंबर, सात दिसंबर, 12 दिसंबर, 16 दिसंबर और 20 दिसंबर को वोटिंग होगी। पांच चरणों में चुनाव कराए जाने को लेकर विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग पर सवाल उठाएं हैं, लेकिन गौरतलब बात है कि जब राज्य के कुल 24 जिलों में 19 जिले नक्सल प्रभावित क्षेत्र हों और उनमें खासकर 13 जिले अति संवेदनशील क्षेत्र घोषित हों, तो आयोग सुरक्षा में कोई कोताही नहीं चाहेगा। बहरहाल चुनाव आयोग द्वारा तारीखों की घोषणा के बाद राजनीतिक दलों ने चुनाव अभियान शुरू कर दिया है। झारखंड में बहुमत का आंकड़ा 41 है। भारतीय जनता पार्टी के सामने जहां सरकार बचाए रखने की चुनौती है वहीं विपक्षी कांग्रेस-झामुमो गठबंधन सत्ता में वापसी के लिए बेकरार है। भाजपा के साथ निवर्तमान सरकार में सयहोगी आल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (आजसू) ने इस बार अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है, जिसके चलते भाजपा की चुनौतियां बढना स्वाभाविक है। पिछले साल तक देश के 18 राज्यों में भाजपा की सरतार थी लेकिन साल 2019 की शुरुआत से लेकर अब तक यह संख्या घटकर 12 पर रह गई है। ऐसे में भाजपा के लिए झारखंड चुनाव बेहद अहम है। हरियाणा और महाराष्ट्र में उम्मीदों के विपरीत परिमाम आने के बाद भाजपा झारखंड में किसी भी तरह की चूक नहीं छोड़ना चाहती है यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत पार्टी के तमाम बड़े नेताओं ने झारखंड में चुनावी रैलियां शुरू कर दी हैं।

पिछले चुनाव का अंकगणित

पिछले चुनाव में भाजपा ने 37 और आजसू ने पांच सीटों पर जीत हासिल कर रघुबर दास के नेतृत्व में सरकार बनाई थी। विपक्षी दलों की बात करें तो पिछले विधानसभा चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा को 19, झारखंड विकास पार्टी को आठ और कांग्रेस को छह सीटें मिली थी। छह सीटों पर अन्य ने जीत दर्ज की थी। झारखंड विकास पार्टी के छह विधायक बाद में भाजपा में शामिल हो गए थे। वोट प्रतिशत की बात करें तो भाजपा को सबसे ज्यादा 31.8 प्रतिशत मत मिले थे। झारखंड मुक्तिमोर्चा को 20.8 और कांग्रेस को 10.6 प्रतिशत वोट मिले थे। झारखंड विकास पार्टी को 10.2 प्रतिशत वोट तथा सरकार में सहयोगी आजसू को 3.7 फीसदी वोट प्राप्त हुए थे।  अन्य दलों तथा निर्दलीयों को 22.9 प्रतिशत वोट मिले थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.