Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तराखंड के नैनीताल में बने क्वारंटीन सेंटर में सांप के काटने से मासूम बच्ची की मौत

SATYAVOICE.COM रिपोर्टर कुंवर पवन प्रताप सिंह की रिपोर्ट

त्तराखंड के नैनीताल से ऐसी खबर सामने आई जो दहलाने वाली है। यहां क्वारंटीन सेंटर में अपनी मां के साथ रुकी एक चार साल की बच्ची की मौत हो गई। दरअसल बच्ची क्वारंटीन सेंटर में मां के साथ सोई हुई थी और उसे सांप ने डंस लिया। और उसकी मौत हो गई। मामला नैनीताल जिले के बेतालघाट ब्लॉक के तल्ली सेठी गांव का है।

ऐसे हुई घटना 

बेतालघाट के तल्लीसेटी खौला गांव तोक के रहने वाले महेन्द्र सिंह का दिल्ली में इलाज चल रहा था और लॉकडाउन में वह वहीं फंसे थे। लॉकडाउन में राहत मिलने के बाद वह गांव पहुंचे। गांव पहुंचने के बाद उन्हें कोरोना के डर से परिवार समेत स्कूल में क्वारंटाइन कर दिया। 4 साल की बच्ची अंजना भी अपने माता-पिता के साथ दिल्ली से लौटी थी। बच्ची को माता0ुिता के साथ गांव के प्राइमरी स्कूल में क्वारंटाइन किया गया था। सोमवार तड़के 4 बजे बच्ची को सांप ने काट लिया। लेकिन लाख भाग-दौड़ के बाद भी बच्ची को नहीं बचाया जा सका।

टीचर और पटवारी के खिलाफ  FIR
बच्ची की मौत के बाद गांव में कोहराम मच गया। और प्रदेशभर के क्वारंटीन सेंटर्स की सुरक्षा पर सवाल उठने शुरु हो गए।  मृतक अंजना के परिजनों ने इस मामले का दोष सरकारी इंतजामों पर लगाया। अंजना की मां का आरोप है कि स्कूल में व्यवस्था न होने बावजूद उन्हें यहां क्वारंटीन किया गया। स्कूल के चारों ओर कोई सफाई भी नहीं की गई। साथ ही स्कूल की बाउंड्री के आसपास किसी तरह का कैमिकल भी नहीं छिड़का गया था। ऐसी स्ठितियो में स्कूल के भीतर सांप आना लाजमी है। यही वजह है कि सोते हुए बच्ची को सांप ने काट लिया।  बहरहाल मृतक बच्ची के परिजनों ने बच्ची की मौत के मामले में स्कूल के शिक्षक खीम सिंह और पटवारी राजपाल के खिलाफ नामजद एफ़आईआर दर्ज कराई है। और सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। हालांकि नैनीताल के डीएम सविन बंसल ने पूरे मामले लापवाही उजागर होने पर सख्त कार्रवाई की बात कही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.