Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

इस ओडीएफ घोषित जिले के गांव की हकीकत जानिए, होश उड़ जायेंगे, जानिये पूरी दास्तां

कानपुर देहात आप भी जानकर दंग रह जाएंगे कि जब केंद्र से लेकर राज्य सरकार के प्रमुख मुद्दों में शौचालय सबसे अहम अभियान है। बावजूद इसके 2000 की आबादी वाला कानपुर देहात जनपद का गांव और गांव में कोई शौंचालय न हो। वहीं जिले को ओडीएफ भी घोषित किया गया हो अर्थात पूरा गांव खुले में शौच मुक्त। ये नजारा जिले के कृपालपुर गांव का है, जिसकी मुख्यालय से दूरी महज़ 2 किलोमीटर है। हालांकि मामला ज़िले के मुखिया डीएम साहब के संज्ञान में भी है, लेकिन सब तमाशबीन बने हुए हैं और बेबस ग्रामीण समस्याओं का दंश झेल रहे हैं।

कानपुर देहात के अकबरपुर नगर पंचायत के गांधी नगर वार्ड 4 का कृपालपुर गांव अपनी बदनसीबी पर आंसू बहा रहा है। ज़िला ओडीएफ घोषित हो जाने के बावजूद कृपालपुर गांव में एक भी शौचालय नही बना है। इलाकाई लोगो की माने तो लगभग 2 हज़ार आबादी वाले इस क्षेत्र में एक भी शौचालय नही है। पूरे क्षेत्र के लोग खुले में शौच करते हैं और अधिकारियों ने ज़िला ओडीएफ घोषित कर दिया है। पूरा क्षेत्र खुले में शौच करता है। महिलाए, बुज़ुर्ग, जवान और बच्चे सब खुले में शौच करने पर मजबूर हैं।

कृपालपुर में रहने वाले बुज़ुर्ग बताते हैं कि बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। कभी कभी गिर भी जाते हैं, चोट लग जाती है। तमाम बार अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नही हुयी। ताज्जुब की बात है कि इक्कीसवीं सदी में भी इन्हें शौचालय नसीब नही हुआ। ग्रामीण आक्रोशित हैं, लेकिन उनके आगे कोई विकल्प भी नही है। कृपालपुर से महज 2 किलोमीटर दूर मुख्यालय है, जहां सभी प्रशासनिक अधिकारी बैठते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.