Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

राष्ट्रीय लोक अदालत में किया गया कई मामलों का निस्तारण

हल्द्वानीः बीते शनिवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं जिला जज राजीव कुमार खुल्बे की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन सम्पन्न हुआ। जिसमें कुल 184 मामले तय किये गये जिसमें समझौता धनराशि एक करोड़ बयालीस लाख इकत्तीस हजार छःसौ तरेसठ रही। प्रीलिटिगेशन के कुल 26 मामलों का निस्तारण कर समझौता राशि नो लाख निन्यानवे हजार बैंको को दिलायी गयी।

जानकारी देते हुए सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं सिविल जज सीनियर डिवीजन इमरान मोहम्मद खान ने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश न्यायालय राजीव कुमार खुल्बे एवं बैंच अधिवक्ता प्रमोद तिवारी द्वारा विद्युत अधिनियम के 18 वाद तथा मिशलीनियस क्रिमिनल के 06, मोटर दुर्घटना प्रतिकर के 05 वाद, आरसीए के 01 वाद व एमएसीपी के 03 वादों का निस्तारण कर मुब0 पैंतालीस लाख पिचासी हजार दो सौ सत्तानवें रूपये की समझौता धनराशि वसूल की गई। ब्रिजेन्द्र सिंह परिवार न्यायालय नैनीताल एवं बैंच अधिवक्ता सुन्दर सिंह मेहरा द्वारा 05 पारिवारिक वादों का निस्तारण किया गया। बुशरा कमाल द्वितीय अपर सिविल जज (जू.डि.) न्यायालय नैनीताल एवं बैंच अधिवक्ता गौरव भट्ट द्वारा 91 क्रिमिनल कम्पाउण्डेबल वाद तथा एनआईएक्ट के 01 वाद का निस्तारण कर मुब चार लाख चार हजार रूपये समझौता धनराशि वसूल की गई तथा प्रीलिटिगेशन के 08 मामलों का निस्तारण कर मुब0 सात लाख पिचासी हजार रूपये बैंक को दिलाये गये। अरविन्द कुमार प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश न्यायालय हल्द्वानी एवं बैंच अधिवक्ता रविन्द्र सिंह द्वारा क्रिमिनल कम्पाउण्डेबल के 01 वाद, एमएसीटी के 01 वाद का निस्तारण कर मुब0 दस लाख रूपये की समझौता धनराशि वसूल की गई तथा मनी रिकवरी के 01 वाद का निस्तारण कर मुब0 पाॅच लाख उन्चास हजार एक सौ सोलह रूपये समझौता धनराशि वसूल की गई। पंकज तोमर परिवार न्यायालय हल्द्वानी एवं बैंच अधिवक्ता बशीरत जहाॅ द्वारा 05 पारिवारिक वादों का निस्तारण किया गया। संगीता आर्या सिविल जज (सी.डि.) न्यायालय हल्द्वानी एवं बैंच अधिवक्ता मो0वसीम द्वारा क्रिमिनल कम्पाउण्डेबल के 20 वादों का निस्तारण कर मुब0 तीन लाख रूपये एवं एनआई एक्ट के 11 वादों का निस्तारण कर मुब0 पैंतीस लाख छियत्तर हजार तीन सौ तैंतालीस रूपये की समझौता धनराशि वसूल कर परिवादी को दिलाई गई तथा 03 अन्य वादों का निस्तारण किया गया व प्रीलिटिगेशन के 18 मामलों का निस्तारण कर मुब0 दो लाख चैदह हजार रूपये बैंक को दिलाये गये। श्री राजेश कुमार सिविल जज (सी.डि.) न्यायालय रामनगर एवं बैंच अधिवक्ता रंजीत सिंह द्वारा क्रिमिनल कम्पाउण्डेबल के 05 वादों एवं एनआई एक्ट के 04 वादों का निस्तारण कर मुब0 अड़तीस लाख सोलह हजार सात सौ सात रूपये समझौता धनराशि वसूल की गयी तथा 03 अन्य वादों का निस्तारण किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.