Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

पहले दिन देश में दो लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई

दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत में शनिवार से शुरू हुआ। दूसरे दिन रविवार को देश के सिर्फ छह राज्यों में कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। हेल्थ मिनिस्ट्री के एडिशनल सेक्रेटरी डॉ. मनोहर अगनानी ने बताया कि इन राज्यों में वैक्सीनेशन के कुल 553 सेशन किए गए। इनमें 17 हजार 72 लोगों को टीका लगाया गया। अब तक कुल दो लाख 24 हजार 301 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

उन्होंने बताया कि पहले दिन दो लाख सात हजार 229 लोगों को वैक्सीनेट किया गया। यह किसी भी देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत वाले दिन की सबसे बड़ी संख्या है। इस मामले में भारत सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन वाले देशों अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस से भी आगे रहा है।

पहले दिन सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन वाले 15 राज्य

आंध्र प्रदेश 16,963
बिहार 16,401
उत्तर प्रदेश 15,975
महाराष्ट्र 15,727
कर्नाटक 12,637
प. बंगाल 9,578
राजस्थान 9,279
ओडिशा 8,675
गुजरात 8,557
केरल 7,206
मध्यप्रदेश 6,739
छत्तीसगढ़ 4,985
हरियाणा 4,656
तेलंगाना 3,600
तमिलनाडु 2,728

वैक्सीनेशन के बाद 447 लोगों को बुखार-सिरदर्द

ओडिशा में पहले दिन वैक्सीनेशन में हिस्सा लेने वालों की मॉनिटरिंग के चलते रविवार को टीका नहीं लगाया गया। वैक्सीन के साइड इफेक्ट के मामले भी सामने आए हैं। पहले दिन दिल्ली में 52, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में 14-14, तेलंगाना में 11 और ओडिशा में 3 लोगों को परेशानी हुई।

हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, 16 और 17 जनवरी को हुए वैक्सीनेशन में एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्युनिजेशन (AEFI) के 447 मामले रिपोर्ट किए गए हैं। ज्यादातर को हल्का बुखार और सिरदर्द की शिकायत रही। इनमें से सिर्फ तीन को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। दिल्ली के रहने वाले दो लाेगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। एक को एम्स ऋषिकेश में डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। उसकी हालत ठीक है।

ये लक्षण देखने को मिले

  • सिरदर्द
  • चक्कर आना
  • पसीना आना
  • सीने में भारीपन

राज्यों की स्थिति..

महाराष्ट्र में दो दिन वैक्सीनेशन नहीं
महाराष्ट्र में रविवार को वैक्सीनेशन नहीं किया गया। यहां सोमवार को भी टीकाकरण नहीं होगा। कोविन ऐप में गड़बड़ी की वजह से वैक्सीनेशन रुकने की अटकलों पर राज्य के हेल्थ डिपार्टमेंट ने बताया कि रविवार और सोमवार को राज्य में वैक्सीनेशन की कोई योजना नहीं थी। यहां अगले हफ्ते से केंद्र की गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना के टीके लगाए जाएंगे।

हालांकि पहले दिन Co-WIN ऐप में तकनीकी समस्या की वजह से ही वैक्सीनेशन के कई लाभार्थियों तक मैसेज नहीं पहुंचा, जिस वजह से राज्य में पहले दिन टारगेट से आधे लोगों को ही टीका लगाया जा सका। यहां 14 लोगों में साइड इफेक्ट देखने को मिले।

दिल्ली: साइड इफेक्ट के 52 मामले सामने आए
दिल्ली में वैक्सीनेशन के पहले दिन साइड इफेक्ट के 52 मामले सामने आए। इनमें से एक मामला गंभीर पाया गया। दिल्ली सरकार के मुताबिक, नॉर्थ दिल्ली में एक, साउथ-ईस्ट दिल्ली में 5 और नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली में 4 साइड इफेक्ट के मामले सामने आए।

इसी तरह ईस्ट दिल्ली में 6, सेंट्रल दिल्ली में 2, साउथ दिल्ली में 11, नई दिल्ली में 5, साउथ-वेस्ट दिल्ली में 11 और वेस्ट दिल्ली में साइड इफेक्ट के 6 मामले सामने आए। गंभीर साइड इफेक्ट का मामला साउथ दिल्ली में रिपोर्ट किया गया।

पश्चिम बंगाल: पहले दिन 15 हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगी
पश्चिम बंगाल में पहले दिन 15 हजार 707 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। इनमें से 14 लोगों में वैक्सीन के साइड इफेक्ट देखने को मिले। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, एक की हालत गंभीर भी हुई थी, हालांकि बाद में उसकी हालत में सुधार हो गया था।

तेलंगाना: 11 लोगों में साइड इफेक्ट दिखा
तेलंगाना में वैक्सीनेशन के पहले दिन 11 लोगों में हल्के साइड इफेक्ट देखने को मिले। राज्य के 33 जिलों के 140 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन किया गया। इस दौरान 4,296 लोगों को वैक्सीन का डोज दिया गया। जिनमें साइड इफेक्ट दिखा, उन्हें दर्द, चक्कर आना और पसीना आने जैसी समस्याएं हुईं।

ओडिशा: जिन्हें वैक्सीन लगी, उनकी मॉनिटरिंग होगी
ओडिशा में रविवार को वैक्सीनेशन नहीं हुआ। एडिशनल चीफ सेक्रेटरी प्रतिप्त मोहापात्रा ने बताया कि राज्य में पहले दिन वैक्सीन लगवाने वाले लोगों की मॉनिटरिंग के चलते यह फैसला लिया गया। राज्य में पहले दिन 16 हजार 405 लोगों को वैक्सीन लगाई जानी थी, लेकिन 13 हजार 980 लोगों को ही टीका लगाया जा सका। यहां साइड इफेक्ट के 3 मामले कटक, ढेंकनाल और गजपति जिले में सामने आए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.