Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

रिस्‍क झेलने में भारतीय बैंक अव्‍वल, यस बैंक संकट से घबराने की जरूरत नहीं: सीईए

नई दिल्‍ली। देश के मुख्‍य आर्थिक सलाहकार (सीईए) के. वी. सुब्रमण्यम ने यस बैंक संकट मामले में कहा कि जमाकर्ताओं को चिंता करने की घबराने कोई जरूरत नहीं है। सीईए ने ट्वीट करके के कहा कि वैश्विक स्‍तर पर बैंकों का कैपिटल टू रिस्क असेट रेशियो (सीआरएआर) करीब 8 फीसदी होता है, जबकि भारत में बैंकों के लिए सीआरएआर 14.3 फीसदी के करीब है। इस हिसाब से देखा जाए तो हमारे बैंकों के पास सीआरएआर ग्लोबल पैमानों के हिसाब से 80 फीसदी ज्यादा है।

  • मुख्य आर्थिक सलाहकार बोले- भारतीय बैंक पूरी तरह सेफ
  • परेशान होने की कोई वजह नहीं है
  • सरकार ने जमाओं के लिए बीमा राशि को बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दिया है

सुब्रमण्यम ने कहा कि हमारे बैंकों के लिए सेफ्टी मार्जिन बहुत बड़ा है। साथ ही उनके पास कैपिटल की कमी भी नहीं है। उन्‍होंने कहा कि यदि बात जमाकर्ताओं के हित की करें तो इस बजट में रिस्क इंश्योरेंस को एक लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि ऐसे में जमाकर्ताओं को घबराने की बिल्कुल जरूरत नहीं है क्‍योंकि भारतीय बैंकिंग सेक्टर पूरी तरह से सुरक्षित हैं और जमाकर्ताओं का एक-एक रुपया भी।

उल्‍लेखनीय है कि यस बैंक के खाताधारकों के लिए आरबीआई ने निकासी की सीमा 50 हजार रुपये तय की है। हालांकि, विशेष परिस्‍थि‍ति और इमर्जेंसी में वे 5 लाख रुपये तक की निकासी कर सकते हैं। बैंक की ओर से ग्राहकों को एक और राहत दी गई। अब यस बैंक के ग्राहक किसी भी एटीएम से पैसा निकाल सकेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.