Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

शपथ ग्रहण समारोह से दूरी बनाने वाले ट्रंप अकेले नहीं, जानें अब तक किन राष्‍ट्रपतियों ने किया है ऐसा

 एक मिसरा है कि बड़े बेआबरू होकर तेरे कूंचे से हम निकले… शायद डोनाल्ड ट्रंप के साथ यही हुआ है। ट्रंप उन अमेरिकी राष्ट्रपतियों में शामिल होने जा रहे हैं जो नए राष्ट्रपति जो बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे। यही नहीं ट्रंप एकलौते ऐसे राष्ट्रपति हो गए हैं जिन्होंने प्रतिद्वंद्वी की जीत को स्वीकार नहीं किया है। साथ ही जिन पर भीड़ को कैपिटल हिल पर हमला करने के लिए उकसाने का आरोप लगा है। इतना ही नहीं वह अमेरिकी इतिहास में दो बार महाभियोग का सामना करने वाले पहले राष्ट्रपति भी बन गए हैं।

गलत सूचनाओं में 73 फीसद की गिरावट

वहीं एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ट्रंप पर सोशल मीडिया प्रतिबंधों के चलते चुनावी धोखाधड़ी को लेकर ऑनलाइन गलत सूचनाओं में 73 फीसद की भारी गिरावट आई है। दरअसल ट्रंप अक्‍सर सोशल मीडिया प्‍लेटफार्मों के जरिए दावा करते रहे हैं कि अमेरिकी चुनाव की मतगणना में कथित तौर पर गड़बड़ियां हुई हैं। यही नहीं ट्रंप कैंपेन की ओर से कई मुकदमें इस मसले पर विभिन्‍न अमेरिकी अदालतों में दाखिल भी किए गए लेकिन वे औंधे मुंह गिर गए…

शपथ ग्रहण से दूरी बनाने वाले ट्रंप अकेले नहीं

समाचार एजेंसी आइएएनएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उन राष्‍ट्रपतियों का लेखाजोखा जारी किया है जो नव निर्वाचित राष्‍ट्रपतियों के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए। रिपोर्ट कहती है कि साल 1801 में जॉन एडम्स नए राष्‍ट्रपति थॉमस जेफरसन के शपथ ग्रहण में शामिल नहीं हुए थे। यही नहीं साल 1829 में व्यक्तिगत अपमान के साथ एक कड़वी लड़ाई लड़ने के बाद जॉन क्विंसी एडम्स ने अपने उत्तराधिकारी एंड्रयू जैक्सन के शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार कर दिया था।

जॉनसन और जॉन एडम्स भी कर चुके हैं ऐसा

रिपोर्ट के मुताबिक, शपथ ग्रहण समारोह से पहले जैक्सन की पत्नी की मृत्यु हो गई तो उन्‍होंने इसका ठीकरा अपने विरोधी पर फोड़ा था। एंड्रयू जैक्सन ने जॉन क्विंसी एडम्स पर तनाव को बढ़ाने का आरोप लगाया था। साल 1869 में जॉनसन ने भी यूलेसीस एस ग्रांट के शपथ समारोह से दूरी बना ली थी और अनुपस्थित रहे थे। वह कार्यकाल के अंतिम पलों में व्हाइट हाउस में रहकर अंतिम मिनट के कानून पर हस्ताक्षर करने में मशगूल रहे थे।

रिचर्ड निक्सन ने पहले ही छोड़ दिया था व्हाइट हाउस

यही नहीं दोनों के बीच कटुता इस कदर बढ़ गई थी कि ग्रांट ने समारोह के लिए व्हाइट हाउस से कैपिटल के लिए जॉनसन के साथ जाने से इनकार तक कर दिया था। यही नहीं रिचर्ड निक्सन ने जेराल्ड फोर्ड के शपथ ग्रहण से पहले व्हाइट हाउस के लॉन से हेलीकॉप्टर के जरिए निकल गए थे। ऐसे में ट्रंप की गैरमौजूदगी को लेकर कोई हैरानी नहीं होनी चाहिए। मौजूदा वक्‍त में भी कटुता का आलम यह है कि नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि वह ट्रंप के दूर रहने से खुश हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.