Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

पाकिस्तान ने ईरान में फंसे अपने नागरिकों के लिए ताफ्तान सीमा खोली

 पाकिस्तानी अधिकारियों ने दरियादिली दिखाते हुए ईरान में फंसे अपने करीब 340 नागरिकों की वापसी के लिए अस्थायी रूप से ताफ्तान सीमा को खोलने का फैसला किया है। पाकिस्तान ने शुक्रवार की शाम ईरान में फंसे पाकिस्तानियों को वापस लाने के लिए ताफतान बॉर्डर को अस्थायी रूप से खोल दिया है। इन लोगों में 184 तीर्थयात्री भी शामिल हैं। प्रधानमंत्री के विशेष सहयोगी जफर मिर्जा ने कहा है कि सरकार ने अगले कुछ दिनों में स्वास्थ्य जांच के बाद इन लोगों को धीरे-धीरे जत्थे में आने की अनुमति दी है। समाचार एजेंसी के मुताबिक ईरान में कोरोना वायरस से 34 लोगों की मौत हो गई है जबकि 106 नए मामले सामने आए हैं। यहां तक कि ईरान की उपराष्ट्रपति  मासूमेह एब्तेकार भी घातक कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई हैं।

वहीं पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पीएम इमरान खान के विशेष सहायक जफर मिर्जा  ने शुक्रवार को तफ्तान सीमा का दौरा किया। उन्‍होंने बताया कि सरकार अगले कुछ दिनों में लोगों की स्वास्थ्य जांच कराएगी और उसके बाद धीरे-धीरे अलग अलग बैचों में लौटने की इजाजत देगी।

 ईरान में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के कारण पाकिस्तान ने 23 फरवरी को पाकिस्तान-ईरान बॉर्डर बंद कर दिया था। ईरान में कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर पाकिस्‍तान ने ईरान के साथ अपनी सरहद तीन दिन से बंद कर रखी है । वहीं ईरानी नागरिकों ने अपने देश वापस जाने की अनुमति न मिलने पर ताफ्तान में सरहद के गेट के करीब प्रदर्शन भी किया. हालांकि इसके बाद ईरानी व्‍यापारियों और ड्राइवरों को ईरान जाने की अनुमति दे दी गई ताफतान के असिसटेंट कमिश्नर नजीबुल्लाह कांमरानी ने बताया कि तार्थयात्रियों, व्यापारियों और मजदूरों समेत जो लोग भी ईरान से लौट रहे हैं, उनकी प्रवेश स्थान पर स्वास्थ्य जांच की जा रही है। पाकिस्तान में शुक्रवार को दो कोरेना वायरस के मामले सामने आए थे। उसके बाद से प्रशासन और सतर्क हो गया है। कांमरानी ने स्पष्ट कहा है कि जो लोग ईरान से तीर्थ कर लौटे हैं, उन्हे अलग से रखा जाएगा। जबकि अन्य लोगों को उनके मेडिकल चेकअप के बाद अपने गंतव्य स्थान पर जाने की अनुमति होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.