Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

पाकिस्तान की टिड्डी फौज ने हिन्दुस्तान में मचाई तबाही

राजस्थान एवं मध्य प्रदेश में तबाही मचा रहे टिड्डियों के दो अलग-अलग दलों ने यूपी के सीमावर्ती दो जिलों झांसी एवं सोनभद्र के बाहरी इलाकों पर हमला बोल दिया है। मध्य प्रदेश की ओर से आई इन टिड्डियों को नियंत्रित और नष्ट करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई। झांसी में तो काफी हद तक खदेड़ दिया गया लेकिन वे एक तहसील को छोड़कर दूसरी तहसील में पहुंच गईं।

टिड्डियों की निगरानी एवं उन्हें नष्ट या नियंत्रित करने के लिए गठित टीमों में समन्वय के लिए बने नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार अपेक्षाकृत एक छोटे दल ने झांसी जिले की मोठ तहसील में प्रवेश कर वहां खेतों एवं पेड़-पौधों को चट करना शुरू कर दिया। विशेषज्ञों की टीम ने उन्हें खदेड़ना शुरू किता तो वे झांसी के ही दूसरी तहसील गरौठा में पहुंच गईं।  उन्हें रात के अन्धेरे में नष्ट करने के उपाय शुरू कर दिए गए हैं। वहीं टिड्डियों के एक अन्य छोटे दल ने मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले से यूपी के सोनभद्र में प्रवेश कर वहां के घोरावल तहसील की हरियाली पर धावा बोल दिया। इसकी जानकारी होते ही उन्हें नष्ट करने के लिए विशेषज्ञों की टीम मौके पर पहुंच गई। टीम ने कीटनाशकों का छिड़काव शुरू किया तथा स्थानीय ग्रामीणों ने भी टीन-कनस्तर आदि पीटकर उन्हें खदेड़ना शुरू कर दिया। हालांकि ये देर शाम तक उसी इलाके में उड़ती रहीं। उनके बैठने का इन्तजार किया जा रहा था ताकि कीटनाशकों का छिड़काव किया जा सके।

इस बीच दो जिलों में टिड्डियों के प्रवेश के बाद सोनभद्र से सटे मिरजापुर, चन्दौली तथा झांसी से सटे जालौन और हमीरपुर को हाई अलर्ट कर दिया गया है। टिड्डियों के अलग-अलग दलों को देते हुए आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, इटावा, चित्रकूट, बांदा, प्रयागराज, कौशाम्बी और फतेहपुर को भी सावधान कर दिया गया है।

झांसी के रास्ते हुई इंट्री

अलग-अलग समूहों में बंटा पाकिस्तानी टिड्डियों का दल तेजी से प्रदेश के सीमावर्ती जिलों की ओर बढ़ रहा है। एक टिड्डी दल जिसे लेकर यह आशंका जताई जा रही थी कि वह छतरपुर से महोबा की ओर बढ़ेगा उसका रुख बदल गया है। अधिकारियों की मानें तो हवा की दिशा बदलने से यह दल पन्ना-सिहोर होते हुए सतना व रीवा की ओर जा रहा है। इसके प्रदेश में प्रवेश की आशंका घट गई है। उसी दल से टूटने वाला दूसरा दल झांसी पहुंच गया है और उसके जालौन व हमीरपुर जनपदों में प्रवेश की आशंका बनी हुई है।

दूसरे दल से ज्यादा खतरा
पहला दल:  टिड्डियों के पहले दल के झांसी जनपद की सीमा से होते हुए एमपी के छतरपुर जिले से आगे की ओर पन्ना, सिहोर होते हुए सतना व रीवा की ओर बढ़ने की आशंका है। यदि हवा की चाल नहीं बदली तो इस दल के प्रदेश में प्रवेश की आशंका घट जाएगी।

दूसरा दल: टिड्डियों का दूसरा दल झांसी पहुंच गया है। यह दल जालौन जिले की सीमा में प्रवेश कर हमीरपुर की ओर बढ़ेगा। इसकी चपेट में घाटमपुर का बड़ा हिस्सा आ सकता है।

तीसरा दल: टिड्डियों का तीसरा दल दौसा के निकट है। अगर इसकी दिशा न बदली तो यह आगरा, इटावा, औरैया व देहात जनपदों से होते हुए कानपुर जिले में प्रवेश कर सकता है। इसके बाद यह फतेहपुर, प्रयागराज आदि जनपदों को अपनी चपेट में ले सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.