Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

दूरदर्शन के इन सीरियल्स के लोग थे दिवाने

कुलदीप तोमर

अपने वजूद के लिए लड़ रहे सरकारी चैनल दूरदर्शन के लिए लॉकडाउन वरदान साबित हो रहा है। प्रतिस्पर्धा के इस दौर में लॉकडाउन की वजह से अधिकांश मनोरंजक चैनलों में प्रसारित सीरियल्स की शूटिंग रूकी हुई है, इसलिए अधिकांश चैनलों पर सीरियल्स के पुराने एपिसोड ही दिखाए जा रहे हैँ। जनता की मांग पर सूचना एवम् प्रसारण मंत्रालय ने बीते 28 मार्च से दूरदर्शन पर रामायण का पुन: प्रसारण शुरू किया था, रामायण के प्रति उमड़े जनप्रेम को देखकर दूरदर्शन ने एक के बाद एक अपने पुराने सीरियल्स का पुन:प्रसारण करना शुरू कर दिया। पिछले लगभग एक सप्ताह में एक दर्जन पुराने सीरियल्स का पुन: प्रसारण दूरदर्शन पर शुरू किया जा चुका है। नतीजन दूरदर्शन अपने खोए दर्शक वर्ग को वापस जुटाने में तो कामयाब हुआ ही है साथ ही टीआरपी की दौड़ में भी शामिल हो गया है। तो आइये जानते हैं क्या है खास दूरदर्शन के इन पुराने सीरियल्स में-

रामायण

दूरदर्शन पर रामानन्द सागर द्वारा निर्मित रामायण का पहला एपिसोड 25 जनवरी 1987 को प्रसारित हुआ था। 80 के दशक में लोग रामायण को कार्यक्रम के तौर पर नही बल्कि एक धार्मिक उत्सव की तरह देखते थे। रविवार को सुबह 9 बजे इसका प्रसारण किया जाता था। कुल 78 एपिसोड वाली रामायण ने डेढ साल तक करोड़ों लोगों को खुद से बांधे रखा। हनुमान का संजीवनी बूटी लाना और पुष्पक विमान का उड़ना आदि में स्पेशल इफेक्ट्स का इस्तेमाल सबसे पहले टीवी पर रामायण में ही किया गया था, जोकि लोगों को काफी आकर्षित करता था। जानकार बताते हैं कि जब इस सीरियल में रावण की मृत्यु हुई थी तब रावण का किरदार निभाने वाले अरविन्द त्रिवेदी के गांव में शोक मनाया गया था। रामायण की शूटिंग उस दौर में सबसे ज्यादा दिनों तक चली थी। अब दोबारा रामायण का प्रसारण दूरदर्शन पर सुबह 9 बजे और रात 9 बजे शुरू कर दिया है।

महाभारत

बीआर चोपड़ा द्वारा निर्मित महाभारत का पहला एपिसोड दूरदर्शन पर 2 अक्टूबर 1988 को किया गया था। महाभारत में कुल 94 एपिसोड़ थे और यह भी रामायण के जितना ही लोकप्रिय हुआ।  महाभारत देश के बाहर भी खूब प्रसिद्ध हुआ। इसका प्रसारण ब्रिटेन में बीबीसी टीवी पर किया जाता था और उस दौर में यह ब्रिटेन में सबसे ज्यादा टीआरपी वाला सीरियल बन गया था। अभिनेता मुकेश खन्ना को भी महाभारत से ही प्रसिद्धि मिली थी, उन्होंने भीष्म का रोल किया था। महाभारत का पुन: प्रसारण डीडी भारती पर दोपहर 12 बजे और शाम 7 बजे किया जा रहा है।

शक्तिमान

90 के दशक में पैदा हुए हिन्दुस्तानी बच्चों का सुपरहीरो शक्तिमान ही हुआ करता था। आज के युवाओं से यदि यह पूछा जाए कि आपका बचपन में सबसे पसंदीदा सीरियल कौन सा था तो अधिकांश लोग शक्तिमान का ही नाम लेंगे। शक्तिमान का पहला एपिसोड 13 सितंबर 1997 को प्रसारित किया गया था और इसके कुल 503 एपिसोड़ थे। शक्तिमान की प्रसिद्धि का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि इस सीरियल को बाद में कई अन्य भाषाओं में भी बनाया गया। सुपर हीरो की शक्तियों पर आधारित यह पहला हिन्दुस्तानी सीरियल था जोकि आठ साल तक लगातार रविवार के दिन करोड़ों लोगों को खुद से बांधें रखने में कामयाब हुआ था। सीरियल में शक्तिमान के रूप में मुकेश खन्ना ने तो वही गीता विश्वास के रोल में वैष्णवी महंत ने काफी प्रसिद्धि हासिल की थी। अब यह सीरियल रात 8 बजे दूरदर्शन पर देख सकते हैं।

ब्‍योमकेश बक्‍शी

90 के दशक में दूरदर्शन पर प्रसारित धारावाहिक ब्योमकेश बक्शी बंगाली लेखक शरदेंदु बंदोपाध्याय की कहानियों में आने वाले जासूसी किरदार पर आधारित था। यह धारावाहिक 1993 से 1997 तक लोगों पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब हुआ। ब्योमकेश बक्शी को भारतीय टीवी की दुनिया में सबसे बेहतरीन जासूस बताया जाता था क्योंकि वह किसी भी मुश्किल हालात को सुलझा सकता था। ब्योमकेश बक्शी के पास विभिन्न चुनौतियों से निपटने के लिए अपने अलग ही तरीके होते थे जोकि भारतीय दर्शकों को रोमांचित और आकर्षित करते थे। ब्योमकेश बक्शी द्वारा मर्डर की कहानियों को सुलझाने के तरीकों को दर्शकों ने काफी पसंद किया था। धारावाहिक में ब्योमकेश बक्शी का किरदार रजित कपूर और उसके दोस्त अजित बैनर्जी का किरदार केके रैना ने निभाया था। अब यह सीरियल आप दूरदर्शन पर सुबह 11 बजे देख सकते हैं।

देख भाई देख

जय बच्चन द्वारा निर्मित मशहूर कॉमिक सीरियल देख भाई देख का प्रसारण डीडी मेट्रो पर 6 मई 1993 को शुरू हुआ था। इस सीरियल में कुल 65 एपिसोड थे लेकिन सभी एपिसोड़ एक से बढ़कर एक। रोजमर्रा से जुड़े किस्सों को इस सीरियल में बड़े ही हास्य तरीके से प्रस्तुत किया गया था जिसकी वजह से हर वर्ग का व्यक्ति इस सीरियल से खुद को जोड़ पाता था। यह सीरियल लोगों को गुदगुदाने में तो कामयाब हुआ ही साथ ही जीवन की नई-नई सीख देने में भी कामयाब हुआ था। देख भाई देख सीरियल में फरीदा जलाल, शेखर सुमन, सुषमा सेठ, नवीन निश्‍चल, उर्वशी ढोलकिया जैसे कलाकार मुख्‍य भूमिकाओं अदा की थी। सीरियल का पुन:प्रसारण दूरदर्शन पर शाम 6 बजे किया जा रहा है।

सर्कस

मशहूर अभिनेता शाहरुख खान का टेलीविजन शो ‘सर्कस’ 1989 में दूरदर्शन पर प्रसारित किया गया था। सीरियल में तात्कालिक दौर में खत्म हो रही सर्कस की परम्पराओं पर दिखाया गया था। इस सीरियल में शाहरुख खान ने एक सर्कस कंपनी के मालिक शेखरन की भूमिका निभाई थी। इसी सीरियल के माध्यम से पर्दे पर जानवरों को पहली बार दिखाया गया था। इसीलिए यह सीरियल लोगों के बीच काफी पापुलर हुआ। सर्कस सीरियल  में शाहरुख के अलावा अभिनेत्री रेणुका शहाणे, मकरंद देशपांडे, नीरज वोरा जैसे कलाकार भी देखने को मिलेंगे। यह सीरियल अब दूरदर्शन पर दोपहर 3 बजे प्रसारित किया जा रहा है।

श्रीमान श्रीमति

यह सीरियल अपने दौर का सबसे मजेदार और हास्य सीरियल हुआ करता था। गौतम अधिकारी द्वारा निर्मित सीरियल श्रीमान श्रीमति 1994 में शुरू हुआ और 5 सालों तक दर्शकों को गुदगुदाने में कामयाब रहा। जतिन कनाकिया, राकेश बेदी, रीमा लागू और अर्चना पूरन सिंह ने सीरियल में मुख्य रोल अदा किए थे। सीरियल की प्रसिद्धि को देखते हुए बाद में इसे तमिल में भी बनाया गया। आप यह सीरियल दूरदर्शन पर शाम 4 बजे देख सकते हैँ।

बुनियाद

1986 में दूरदर्शन पर प्रसारित सीरियल बुनियाद आज भी लोगों की यादों में है। यह सीरियल 1947 में मिली आजादी और बंटवारे पर आधारित था। सीरियल की कहानी मनोहर श्याम जोशी ने लिखी थी और रमेश सिप्पी ने इसका निर्देशन किया था। सीरियल की कहानी से उस समय के लोग खुद को जुड़ा पाते थे यही वजह है कि सीरियल हर वर्ग के बीच लोकप्रिय हुआ और बाद में कई निजी चैनलों ने इस सीरियल का प्रसारण किया। इसी धारावाहिक से आलोकनाथ, कंवलजीत और कृतिका देसाई खान ने घर-घर में अपनी पहचान बनाई। अब यह सीरियल आप दूरदर्शन पर शाम 5 बजे देख सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.