Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफा के बाद सोशल मीडिया पर छाए पायलट

जयपुर। मध्य प्रदेश के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफा के बाद राजस्थान के उप मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट और एक अन्य युवा कांग्रेसी नेता मिलिंद देवड़ा भी सोशल मीडिया पर छा गए हैं। सोशल मीडिया यूज़र्स खासतौर से ट्विटर पर हैशटैग सचिन पायलट लिखकर प्रतिक्रियाएं देने लगे हैं।

सोशल मीडिया में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कथित नाराज़गी से जोड़कर पायलट को लेकर प्रतिक्रियाएं दी जा रही है। इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और मध्य प्रदेश के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय का ट्वीट बहुत चर्चा में है। इसमें गहलोत और पायलट की एकसाथ बैठे हुए तस्वीर और एक ट्वीट साझा किया गया है। भाजपा नेता ने व्यंग्य करते हुए लिखा, ‘तने थारे बाप की सोगन बेटा… तू तो मेरे बेटे समान है, जो अमित शाह का नंबर उठायो तो म्हारो मरो मुंह देखोगो ..!!! बुरा न मानो होली है !!!
एक यूजर ने लिखा कि, ‘मने तो लागे है सिंधिया और पायलट दोनों मिलकर एक नई पार्टी बनाएंगे। जो 2023 के चुनाव को ध्यान में रखते हुए होगी। जिस विधायक को दोनों पार्टी छोड़ेगी, उसे सिंधिया की पार्टी से टिकेट मिलेगी। एक ने लिखा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद पायलट की सबसे ज्यादा टीआरपी, बड़े-बड़े न्यूज चैनल और अखबारों के लोग ढूंढते रहे पायलट को, हर कोई जानना चाहता था पायलट की प्रतिक्रिया एवं भावी संभावनाएं।

एक अन्य यूजर ने ट्विट किया कि अशोक गहलोत ने बैंगलोर जाने वाली सभी उड़ानों पर रोक लगायी है। एक यूजर ने प्रतिक्रिया दी कि सिंधिया और पायलट दोनों को राजनीतिक रूप से जीवित रहने के लिए यही एक मात्र तरीका है।
सोशल मीडिया में एक तस्वीर भी ट्रोल की जा रही जिसमें पायलट पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का अभिवादन करते दिखाई दे रहे हैं। इसी तस्वीर में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी दिखाई दे रहे हैं। तस्वीर प्रदेश में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के शपथ ग्रहण समारोह की है। इसके अलावा एक अभिनेत्री की तस्वीर के साथ लिखा कि राजस्थानी सचिन पायलट से कह रहे है कि कब खून खौलेगा रे तेरा।’

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच कथित मतभेद की खबरें कांग्रेस सरकार बनने के साथ ही सामने आने लगीं थीं। हांलाकि दोनों नेता इस तरह की खबरों को नकारते रहे हैं, लेकिन सरकार के निर्णयों की आलोचना वाले पायलट के बयान पिछले सवा साल में कई बार मीडिया की सुर्खिया बनते रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.