Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

नैनीताल में ऐसे हुई ग्राम प्रधानों की क्वारंटीन ट्रेनिंग

कोरोना वायरस के कारण ग्राम पंचायतों में बाहर से आ रहे प्रवासियों के क़वारन्टीन करने और आवश्यक व्यवस्था का उत्तरदायित्व ग्राम प्रधान को दिए जाने के कारण ग्राम प्रधान को अपने दायित्व के निर्वहन के संबंध में जानकारी दिए जाने के लिए जिलाधिकारी नैनीताल द्वारा दिये गए निर्देश के क्रम में जिला पंचायत राज अधिकारी अतुल प्रताप सिंह द्वारा आज विकास खंड कोटाबाग और रामनगर में ग्राम प्रधान संगठन के पदाधिकारियों और ग्राम प्रधानों के साथ बैठक करके प्रवासियों के क़वारन्टीन व्यवस्था और उसके व्यय की प्रतिपूर्ति के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा बताया गया कि वर्तमान में संपूर्ण देश व विश्व कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी से प्रभावित है। इस महामारी के कारण देश के विभिन्न भागों से प्रवासी जनपद नैनीताल के ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपने घरों में आ रहे हैं। ऐसे में यह भी संभावना रहेगी कि यदि इनमें से कोई पूर्व से कोरोना वायरस से संक्रमित होगा तो गांव में संक्रमण फैल सकता है। इस परिपेक्ष में उत्तराखंड शासन द्वारा ग्राम पंचायत में आने वाले सभी बाहरी लोगों के निगरानी, क्वॉरेंटाइन करने, घर पर क्वॉरेंटाइन हेतु आवश्यक सुविधा व पृथक कक्ष न होने पर संबंधित व्यक्तियों को निकटवर्ती विद्यालय/पंचायत भवन/ अन्य सामुदायिक स्थान में क्वॉरेंटाइन किये जाने एवं इन स्थानों में बिजली, पानी, साफ-सफाई आदि की व्यवस्था करने, संबंधित के स्वास्थ्य स्थिति पर नजर रखते हुए किसी लक्षण की स्थिति में स्वास्थ्य विभाग को सूचना उपलब्ध करवाने आदि के दायित्व ग्राम प्रधान को प्रदान करते हुए इस व्यवस्था में व्यवधान पैदा करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध विधिक कार्यवाही प्रारंभ करने के अधिकार ग्राम प्रधान को प्रदान किए गए हैं। उक्त समस्त व्यवस्था को करने और इसमे होने वाले व्यय की प्रतिपूर्ति के संबंध में जानकारी देते हुए सभी को अवगत कराया गया कि
विद्यालय/ पंचायत भवन/ अन्य सामुदायिक स्थान की साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन हेतु छिड़काव, महामारी से बचाव के संबंध में जन जागरूकता हेतु दीवार लेखन आदि पर व्यय का वहन प्रत्येक राजस्व ग्राम में ग्राम स्वास्थ्य एवं स्वच्छता समिति के खाते में स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए धनराशि,ग्राम पंचायत की स्वयं के राजस्व (ओ.एस.आर.), वित्त आयोग की कंटीजेंसी की धनराशि से कर सकते हैं।
ग्राम पंचायत में आने वाले प्रवासी चूंकि संबंधित गांव के ही निवासी हैं, अतः सामुदायिक स्थानों में क्वॉरेंटाइन किए जाने पर उनके भोजन, बिस्तर आदि की व्यवस्था उनके घरों से करा ली जाए। यदि संबंधित प्रवासी के घर के लोग बहुत गरीब होने के कारण यह व्यवस्था करने में सक्षम नहीं हैं तो इनके लिए भोजन ,बिस्तर आदि की व्यवस्था ग्राम पंचायत द्वारा तात्कालिक रूप से करते हुए उसकी प्रतिपूर्ति वित्त आयोग की कंटीजेंसी मद में उपलब्ध धनराशि से कर सकते हैं।साथ ही इनमे से जिनके पास राशन कार्ड नही है या वह ऑनलाइन नही है तथा श्रम विभाग से भी सहायता रूप में धनराशि प्राप्त नही हुई है,उन्हें मुख्यमंत्री राहत कोष से राशन किट हेतु नाम ब्लॉक को उपलब्ध करा दे,जिन्हें तहसील के माध्यम से निशुल्क राशन किट उपलव्ध करा दी जाएगी ।
प्रवासियों के क्वॉरेंटाइन करने हेतु चिन्हित सरकारी भवन यथा शासकीय विद्यालय/ पंचायत भवन/अन्य सामुदायिक भवन/ शासकीय आंगनबाड़ी भवन में शौचालय, पेयजल निर्माण/ मरम्मत कार्यों को ग्राम पंचायत अपनी वर्ष 2020- 21 के जीपीडीपी में सम्मिलित करते हुए 15वें वित्त अथवा चतुर्थ राज्य वित्त आयोग की धनराशि से कर सकती है। विदित हो कि 15वें वित्त आयोग द्वारा आवंटित धनराशि का 50% टाइड माध यथा स्वच्छता, पेयजल, वर्षा जल संरक्षण हेतु एवं चतुर्थ राज्य वित्त आयोग के 50% धनराशि का उपयोग जल आपूर्ति हेतु मानकीकृत है और वर्ष 2020 21 के जीपीडीपी को उक्त मानक के अनुसार पुनः तैयार किए जाने हेतु अवगत कराया जा चुका है।जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी द्वारा कोविड 19 से बचाव एवं क़वारन्टीन केंद्र के रखरखाव और बी आर टी के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया गया
विद्यालय/ पंचायत भवन/ अन्य सामुदायिक स्थान में क्वॉरेंटाइन किए गए प्रवासियों हेतु आवश्यक व्यवस्था में वित्त आयोग की कंटीजेंसी मद में उपलब्ध धनराशि ग्राम पंचायत में समाप्त हो जाने पर इस व्यवस्था में अधिकतम रु 10000 की सीमा तक अतिरिक्त व्यय की प्रतिपूर्ति हेतु बिल भुगतान के समायोजन हेतु संबंधित उप जिला अधिकारी को उपलब्ध करा सकते हैं।बैठक में विकास खंड कोटाबाग के प्रमुख रवि कन्याल,रामनगर की प्रमुख रेखा रावत,उप प्रमुख संजय नेगी,पुलिस क्षेत्राधिकारी रामनगर,खंड विकास अधिकारी कोटाबाग जी आर आर्य,रामनगर एन डी भट्ट,,सहायक विकास अधिकारी पंचायत पी सी कांडपाल,प्रधान संगठन कोटाबाग अध्यक्ष हीरा बल्लभ बधानी,प्रधान गैबुआ माया गोस्वामी,,प्रधान रतनपुर सुधा तिवारी,प्रधान जस्सा गांजा निधि मेहरा,प्रधान बसई उषा जोशी,प्रधान शंकरपुर भूल इमरान,प्रधान चिलकिया हेमा बिष्टआदि के साथ ग्राम पंचायत अधिकारी,ग्राम विकास अधिकारी उपस्थित रहे ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.