Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

मेम साहब सुनसान सड़क पर सीख रही थीं गाड़ी…

सईयां भये कोतवाल तो डर काहे का। ये कहावत आप बचपन से सुनते आए होंगे। लेकिन मध्य-प्रदेश के एक एसडीएम की पत्नी ने इसे सच साबित कर दिखाया। एसडीएम की पत्नी निकल पड़ी साहब की सरकारी गाड़ी में ड्राइविंग सीखने। वो भी सुनसान सड़क पर। साहब का ड्राइवर मैडम को ड्राइविंग के गुर सिखा रहा था। तभी कुछ ऐसा हुआ कि ड्राइविंग सीट पर बैठी मैडम को गाड़ी में अचानक ब्रेक लगाने पड़े। और खुद मेम साहब बनना पड़ा।

मध्य-प्रदेश के रायसेन का मामला

कोरोना के डर से लोग घरों से कम ही बाहर निकल रहे हैं। सड़कें भी खाली, सुनसान सी हैं। ऐसे में मध्य-प्रदेश के रायसेन के सिलवानी में एसडीएम अनिल जैन की पत्नी ड्राइविंग सीखने निकल पड़ीं। वह भी एसडीएम साहब की नेम प्लेट लगी सरकारी गाड़ी लेकर। तभी मैडम की नजर एक पत्रकार पर पड़ी। जो मैडम की ड्राइविंग सीखती तस्वीरें अपने मोबाइल में कैद कर चुका था। कैमरा देख मैडम ने तुरंत गाड़ी में ब्रेक लगाए और रोककर चुपके से पीछे वाली सीट पर जा बैठीं। मैडम ने मौन धारण कर लिया। ड्राइवर से सवाल पूछा कि किसे ड्राइविंग सिखा रहे हो। जिस पर ड्राइवर बोला मैडम से ही पूछ लीजिए। साफ था जवाब दोनों के पास ही नहीं था।

एसडीएम साहब कराएंगे मेम साहब की जांच!

जब एसडीएम साहब को पता चला कि बात मीडिया तक पहुंच गई है। तो एसडीएम साहब बोले में मामले की जांच करवा लूंगा। अब भला अपनी ही पत्नी की अपनी ही सरकारी गाड़ी में ड्राइविंग सीखने के मामले की भला एसडीएम साहब क्या जांच कराएंगे ये भगवान ही जाने। हालांकि एसडीएम साहब का विवादों का पुराना नाता है। अब मेम साहब के कारण एसडीएम एक बार फिर चर्चा में हैं।

(Satyavoice.com के लिए मध्य-प्रदेश से आई इस खबर को संवाददाता कुंवर पवन प्रताप सिंह द्वारा संपादित कर पाठकों के लिए तैयार किया गया है)

Leave A Reply

Your email address will not be published.