Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

सपा ने राजेंद्र चौधरी और अहमद हसन को बनाया विधान परिषद का प्रत्याशी

यूपी में विधान परिषद चुनाव के लिए  समाजवादी पार्टी ने अपने दो प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है, सभी पार्टियों में बैठकों का दौर भी शुरू हो गया है। सपा ने एमएलसी चुनाव के लिए राजेंद्र चौधरी और अहमद हसन को विधान परिषद के चुनावी रण में उतारा है।

वहीं, भाजपा में भी विधान परिषद उम्मीदवारों के नामों को लेकर मंथन निर्णायक दौर में पहुंच चुका है। 12 सीटों के चुनाव के लिए 50 से अधिक दावेदारों के नाम सामने होने के कारण नेतृत्व किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पा रहा है। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का फिर से विधान परिषद जाना तय माना जा रहा है। प्रत्याशियों की घोषणा 14 जनवरी के बाद होने के संकेत बीजेपी की तरफ से मिल रहे हैं।

मंगलवार को सीएम हाउस में हुई थी बीजेपी की बैठक

मुख्यमंत्री आवास पर मंगलवार शाम प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सहित पार्टी की कोर टीम के सदस्यों ने तीन घंटे से ऊपर विचार-विमर्श करके नामों की छंटनी की। लेकिन दावेदारों की सूची काफी बड़ी होने के कारण इसे अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है। जहां तक वीआरएस लेने वाले गुजरात काडर के आईएएस अधिकारी अरविंद शर्मा को परिषद भेजे जाने की चर्चाओं का सवाल है तो बैठक में उनके नाम पर भी कोई गंभीर चर्चा होने की जानकारी नहीं मिली है।

विधानसभा चुनाव नजदीक होने से बढ़ा चुनाव का महत्व

चुनावी वर्ष 2022 से ठीक पहले का वर्ष होने के नाते इस साल इन चुनौतियों का राजनीतिक तौर पर न सिर्फ अलग महत्व हो गया है बल्कि भाजपा के राजनीतिक व रणनीतिक कौशल के अलग तरीके से इम्तिहान की भी घड़ी आ गई है।दरअसल, विधान परिषद की जिन 12 सीटों का चुनाव इस महीने होने जा रहा है, उसमें विधायकों की संख्या बल को देखते हुए भाजपा के हिस्से में कम से कम 10 सीटें आने की संभावना जताई जा रही है।

इसके विपरीत सपा के खाते में काफी कोशिशों और दूसरे दलों से सहयोग लेने के बावजूद ज्यादा से ज्यादा दो सीटें ही जीते जाने के समीकरण दिखाई दे रहे हैं जबकि उसके 6 सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। सदन में इस समय सपा के 55 सदस्य हैं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.