Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तराखंड में टीचर्स के हवाले क्वारंटीन सिस्टम

SATYAVOICE.COM डेस्क 

गांवों में आ रहे प्रवासी लोगों को क्वारंटीन करने की जिम्मेदारी पर स्कूलों में तैनात टीचर्स की होगी। उत्तराखंड के नैनीताल जिले में डीएम सविन बंसल ने टीचर्स की जिम्मेदारियां तय कर दी हैं। टीचर्स क्वारंटीन व्यवस्था को मॉनिटर करेंगे। हालांकि प्रदेश के अन्य जिलों से भी टीचर्स को जिम्मेदारी देने की खबरें सामने आ रही हैं।

अधिकारियों के साथ बैठक करते नैनीताल के डीएम सविन बंसल

जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया है कि जनपद में विभिन्न ग्राम सभाओं मे देश के अनेक राज्यों व जनपदों से प्रवासियों के आगमन के दृष्टिगत जनपद मे आने वाले व्यक्तियों की कोविड-19 के परिपेक्ष मे निगरानी किये जाने की अत्यन्त आवश्यकता है। उन्होंने कहा है कि ऐसे समस्त ग्रामों में जहां पर प्रवासियों का आगमन हुआ वहां पर अनिवार्य रूप से शासकीय कार्मिकों ग्राम सभा में अवस्थित सरकारी विद्यालयों मे कार्यरत अध्यापक, अध्यापिकाओं की तैनाती मुख्य शिक्षा अधिकारी द्वारा तत्काल सुनिश्चित की जाए। डीएम कहा है कि शासकीस कर्मी का यह दायित्व होगा कि वह लगातार क्वारंटीन में रह रहे व्यक्तियों हेतु समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे औ लगातार रिपोर्ट करते रहेंगे।

मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश 
जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुये कहा है कि प्रत्येक ग्राम सभा में जहां प्रवासियों का आगमन हुआ है मे यदि प्रवासियों को विद्यालय में क्वांरटीन किया जाना है। जिसके लिए सलेक्टेड सरकारी विद्यालयों मे कार्यरत अध्यापक, अध्यापिकाओं की तत्काल तैनाती मुख्य शिक्षा अधिकारी करेंगे।

हर प्रधान को मिलेंगे 10 हजार 
डीएम नैनीताल ने बताया कि सम्बन्धित ग्राम सभा में ग्राम प्रधान की महत्वपूर्ण भूमिका के दृष्टिगत शासनादेश मे वर्णित व्यवस्था के अनुसार सम्बन्धित ग्राम सभा मे समस्त व्यवस्थायें करने के लिए सम्बन्धित ग्राम प्रधान को 10 हजार रूपये की धनराशि दी जायेगी। डीएम के निर्देश के मुताबिक यदि प्रवासियों को पंचायत घरों मे क्वारंटीन किया जाना है तो चयनित पंचायत घर में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी तथा ग्राम विकास अधिकारी की तैनाती जिला पंचायती राज अधिकारी तथा जिला विकास अधिकारी द्वारा सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी निर्देश दिये हैं कि प्रत्येक ग्राम सभा जहां प्रवासियों का आगमन हुआ है में होम क्वारंटीन व अन्य क्वांरटीन केन्द्र की व्यवस्था एवं सम्बन्धित ग्राम प्रधानों की सूचना प्राप्त करने उपरान्त सत्यापित सूचना कन्ट्रोल रूम को उपलब्ध करायें।

नहीं बर्दाश्त की जाएगी लापरवाही 
जिलाधिकारी बंसल ने कहा है कि शिक्षा, पंचायती राज तथा ग्रामविकास के जो भी कर्मचारी तैनात किये जा रहे है वे सभी ग्राम प्रधानों को ग्राम सभा क्षेत्र मे आने वाले सभी व्यक्तियो को क्वारंटीन करने तथा व्यवस्थायें सुनिश्चित करने मे पूर्ण सहयोग करेंगे तथा टीम भावना से कार्य करेंगे। इस महत्वपूर्ण कार्य मे किसी भी प्रकार की लापरवाही को गम्भीरता से लिया जायेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.