Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

कोरोना संक्रमित शवों के साथ दुर्वव्हार पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को भेजा नोटिस

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के कारण जान गंवाने वाले लोगों के शवों के साथ दुर्व्यवहार के मामलों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार और लोकनायकजयप्रकाश अस्पताल (एलएनजेपी अस्पताल) को नोटिस जारी किया है। राजधानी दिल्ली में कोरोना के सबसे बड़े अस्पताल एलएनजेपी अस्पताल मेंकोरोना से जान गंवाने वाले लोगों के शवों के साथ उचिव व्यवहार न किए जाने की खबरों पर स्वत: संज्ञान लेते हुए अदालत की तीन सदस्सीय पीठ ने 17 जून तक जवाब देने को कहा है।इसके साथ ही अदालत ने महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु के मुख्य सचिवों से भी रोगी प्रबंधन प्रणाली की स्थितिको लेकर रिपोर्ट पेश करने को कहा है।

दिल्ली को लेकर अदालत ने कहा कि अस्पताल शवों को रखने में उचित व्यवहार नहीं अपना रहे हैं, यहां तक कि लोगों की मौत के बारे में उनके परिवारवालों को भी सूचित नहीं कर रहे हैं। उच्चतम न्यायालय ने अस्पतालों में शवों के बीच रहने को मजबूर कोविड-19 मरीजों का जिक्र करते हुए कहा किदिल्ली में हालात भयावह हैं। कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा कि दिल्ली में कोरोना जांच में कमी क्यों की गई है। कोर्ट ने कहा कि पहले 7000 तक जांच कीजा रही थी, लेकिन अब सिर्फ 5000 तक जांच की जा रही है। शीर्ष अदालत ने कहा कि देश में हर रोज कोविड-19 के 10 हजार मामले सामने आ रहे हैं, ऐसे में जांच क्यों घटाई गई, ये समझ से परे है। कोर्ट ने दिल्लीसरकार से कहा कि जांच बढ़ाने के लिए क्या-क्या किया है, उसे ये बताना चाहिए। इस मामले में अगली सुनवाई 17 जून को होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.