Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

सुशांत केस में बंद दरवाजे का ‘सच’। चाबीवाले का एक ओर Exclusive खुलासा।

Sushant Singh Rajput Case में आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं। सुशांत के बेडरूम का कम्प्यूटराइज्ड लॉक तोड़ने वाले ने कुछ अहम जानकारी दी है। उसका कहना है कि उसे अंदर देखने या दरवाजा खोलने की इजाजत नहीं थी।

ये भी पढ़े: Sushant Singh Rajput के शव को देखकर रिया चक्रवर्ती ने रोते हुए कहे थे ये शब्द, सुशांत से मांगी थी माफी

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच CBI टीम कर रही है। जांच एजेंसी के 15 सदस्यों ने 5 टीम बना रखी हैं। केस से जुड़े अहम लोगों से पूछताछ जारी है। इस बीच चाबी बनाने वाले का बयान सामने आया है। उसने बताया कि 14 जून को जब वह सुशांत के घर पहुंचा तो क्या हुआ।

ये भी पढ़े: किसके कहने पर हुआ था सुशांत सिंह राजपूत के निधन वाले दिन ही पोस्टमॉर्टम, डॉक्टर ने बताया

नहीं पता था फिल्म स्टार का है घर

रिपोर्ट के मुताबिक, उसे 14 जून को जब दरवाजा खोलने के लिए कॉल आया तो पता नहीं था कि यह सुशांत सिंह राजपूत का घर है। उसने बताया कि सिद्धार्थ पिठानी ने उसको फोन किया था। दरवाजे का लॉक खुलते ही उसे 2000 रुपये दिए गए और तुरंत जाने के लिए कहा गया।

ये भी पढ़े: Sushant Singh Rajput की अटॉप्सी रिपोर्ट में गर्दन पर दिखे लिगेचर मार्क, जानें क्या होता है इसका मतलब?

वॉट्सऐप पर भेजी थी ताले की फोटो

पिंकविला की रिपोर्ट के मुताबिक चाबी बनाने वाले ने बताया, मुझे 14 को 1:05 पर सिद्धार्थ पिठानी का फोन आया। मैंने उनको वॉट्सऐप पर ताले की फोटो भेजने को कहा। मैं छठवें फ्लोर पर गया। मैंने अपने औजारों से दरवाजा खोलने की कोशिश की लेकिन उन्होंने कहा कि दरवाजा तोड़ दो। चाबी वाले ने बताया कि उससे कहा गया था कि अगर अंदर से कोई आवाज आए तो तुरंत काम बंद कर देना।

हथौड़े से तोड़ा था कम्प्यूटराइज्ड लॉक

चाबी वाले ने ये भी बताया कि लॉक कम्प्यूटराइज्ड था। उसे हथौड़े से इसे तोड़ना पड़ा। ताला टूटने के बाद उसे 2000 रुपये देकर वहां से जाने के लिए कहा गया। चाबी बनाने वाले ने ये भी बताया कि उससे कमरे के अंदर जाने या देखने की इजाजत नहीं थी। वहां से दूर कर दिया गया था। चाबीवाले ने ये भी बताया कि अब तक सीबीआई ने उससे पूछताछ नहीं की है। अगर कुछ पूछा जाएगा तो वह पूरा सहयोग करेगा।

ये भी पढ़े: CM नीतीश पर कमेंट की Rhea Chakraborty की औकात नहींबिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे भड़के

Leave A Reply

Your email address will not be published.