Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तर प्रदेश:बहन के शव को नहीं मिला कंधा, कूड़ा गाड़ी से श्मशान लेकर पहुंचा मजबूर भाई

उत्तर प्रदेश के शामली में एक शर्मसार करने वाला मामला सामने आया यहां के  जलालाबाद कस्बा के मोहल्ला मोहम्मदीगंज में बीमार चल रही 50 वर्षीय महिला की मौत हो गई। कोरोना महामारी के डर से महिला के शव को कंधा देने के लिए कोई नहीं पहुंचा। बाद में नगर पंचायत की गाड़ी से शव को शमशान घाट ले जाया गया, जहां पर मृतका के भाई ने अंतिम संस्कार किया।

मोहल्ला मोहम्मदीगंज में निजी चिकित्सक प्रभात बंगाली का परिवार रहता है। चिकित्सक की बहन बालामती को कई दिन से बुखार आ रहा था।  रविवार सुबह बालामती की मौत हो गई। चिकित्सक ने  बहन के शव के अंतिम संस्कार के लिए मोहल्ले वालो से मदद मांगी, लेकिन महामारी के डर से कंधा देने के लिए कोई आगे नहीं आया।

मजबूर होकर चिकित्सक ने नगर पंचायत चेयरमैन अब्दुल गफ्फार व अधिशासी अधिकारी विजय आनंद से गुहार लगाई।  अधिशासी अधिकारी ने नगर पंचायत का वाहन भेजा। नगर पंचायत कर्मियों की मदद से चिकित्सक के शव को वाहन में रखकर शमशान घाट ले गए। वहां पर चिकित्सक ने अपनी बहन के शव का अंतिम संस्कार किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.