Uttar Pradesh , Uttarakhand News | उत्तर प्रदेश , उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तराखंड: बर्फबारी की वजह से 20 किलोमीटर पैदल चली बारात

एक तरफ हिल स्टेशनों पर हिमपात से पर्यटकों की आवाजाही बढ़ने लगी है तो दूसरी तरफ सुदूर गांवों में लोग बेहद परेशान हैं। बर्फबारी से जनजीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है। उत्तराखंड के सुदूर जिले चमोली में बर्फबारी लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। पैदल रास्ते, सड़क मार्ग व विद्युत लाइनें क्षतिग्रस्त होने जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। घाट विकासखंड के रामणी गांव से चरबंग के लिए निकली बरात में शामिल बरातियों को बर्फबारी के चलते वापसी के दौरान 20 किमी पैदल चलना पड़ा।

आपको बता दें कि चमोली जिले में बीते दो दिनों से बर्फबारी के और बारिश का दौर जारी है। ठंड के चलते लोग घरों के अंदर कैद हो गए हैं। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने जिले में संचालित कक्षा एक से बारहवीं तक के विद्यालयों के अलावा आंगनबाड़ी केंद्रों में अवकाश घोषित किया है।

बर्फबारी के चलते गोपेश्वर चोपता ऊखीमठ, जोशीमठ औली, कर्णप्रयाग गैरसैंण समेत कई मोटर मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। ऊंचाई वाले इलाके बद्रीनाथ, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, रूपकुंड, रुद्रनाथ, बेदनी, औली बुग्याल सहित कई इलाके बर्फवारी से अच्छादित हो गए हैं। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल औली के अलावा मंडल घाटी के निकट बर्फबारी के बीच पर्यटकों ने यहां की सैर की। इधर, बर्फबारी के चलते ऑली में पर्यटकों ने रोपवे व चेयर लिफ्ट व स्कीइंग का लुफ्त उठाया।

चमोली जिले में बर्फबारी से कई सड़क मार्ग बंद हो गए हैं। इनमें दिवालीखाल में कर्णप्रयाग-गैरसैंण मोटर मार्ग, जोशीमठ औली मोटर मार्ग कवांण बैंड के पास, गोपेश्वर चोपता मोटर मार्ग चोपता में, बद्रीनाथ हाइवे हनुमानचट्टी से बद्रीनाथ मार्ग शामिल हैं। बर्फबारी के चलते कई इलाकों की बिजली भी गुल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.