Uttarakhand News | उत्तराखंड की ताजा खबरें

उत्तराखंड बजट सत्र 2020 : राज्यपाल के अभिभाषण के बाद गैरसैंण में हुई उत्तराखंड मंत्रिमंडल की बैठक

उत्तराखंड विधानसभा का बजट सत्र गैरसैंण (भराड़ीसैंण) में शुरू हो गया है। बजट सत्र की शुरुआत राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के अभिभाषण के साथ हुई। लगभग 45 मिनट के अभिभाषण में राज्यपाल ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों और भावी योजनाओं का जिक्र किया। वहीं विपक्षी कांग्रेस पार्टी के विधायकों ने अभिभाषण के दौरान वेल में आकर जमकर हंगामा किया। कांग्रेसी विधायकों ने वेल में आकर सरकार के खिलाफ खूब नारेबाजी की। राज्यपाल का भाषण हंगामे के बीच पूरा हुआ। अभिभाषण से पहले राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को गार्ड आफ आनर दिया गया। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत तमाम गणमान्य लोग मौजूद रहे।

दूसरी तरफ सदन के बाहर सड़क पर भी खासी हलचल शुरू हो चुकी है। पदोन्नति में अरक्षण के फैसले के खिलाफ प्रदेश के जनरल, ओबीसी कर्मचारियों का प्रदर्शन शुरू हो चुका है। स्थाई राजधानी गैरसैंण की मांग को लेकर उत्तराखंड क्रांतिदल समेत राज्य की क्षेत्रीय ताकतों तथा आंदोलनकारी संगठन भी विधानसभा घेराव कर रहे हैं।  विधानसभा कूच कर रहे आंदोलनकारियों को दिवालीखाल में रोक दिया गया है, जिसके बाद आंदोलनकारी वहीं सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं। अभी तक के कार्यक्रम के अनुसार विधानसभा का सत्र सात मार्च तक चलेगा। चार मार्च को सदन में बजट पेश किया जाएगा। बजट सत्र के लिए विधायकों ने 716 सवाल लगाए थे जिनमें से 603 स्वीकृत किए गए हैं। सत्र के दौरान चार विधेयक भी पेश होंगे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल समेत सभी विधायक सत्र शुरू होने से एक दिन पहले सोमवार को गैरसैंण पहुंच गए थे। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बताया कि बजट सत्र के लिए सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। सरकार की कोशिश जहां सत्र के दौरान विधायी कार्य निपटाने की रहेगी, वहीं विपक्ष ने सरकार को पदोन्नति में आरक्षण को लेकर चल रहे कर्मचारी आंदोलन, फारेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा विवाद, महंगाई, स्थाई राजधानी समेत तमाम मुद्दों पर घेरने की रणनीति बनाई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.